खोज

Vatican News
चित्तागोंग के महाधर्माध्यक्ष मोसेस कोस्टा चित्तागोंग के महाधर्माध्यक्ष मोसेस कोस्टा  

बांग्लादेश के महाधर्माध्यक्ष कोविद -19 से गंभीर रूप से बीमार

13 जून से चित्तागोंग के महाधर्माध्यक्ष मोसेस कोस्टा कोविद -19 बीमारी के कारण ढाका में अस्पताल में भर्ती हैं काथलिक समुदाय महाधर्माध्यक्ष के स्वास्थ्य लाभ के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

ढाका, बुधवार 17 जून 2020 (वाटिकन न्यूज) : नोवल कोरोना वायरस से संक्रमित बांग्लादेश के काथलिक बुजूर्ग पुरोहितों में महाधर्माध्यक्ष मोसेस कोस्टा पहले व्यक्ति हैं। महाधर्मप्रांत के विकर जनरल फादर लेओनार्द रेबेरो ने बताया कि शनिवार को महाधर्माध्यक्ष कोस्टा को चित्तागोंग से ढाका हेलीकॉप्टर से लाया गया।

प्रार्थना की अपील

फादर मोसेस ने सभी धर्मप्रांतीय पुरोहितों, धर्मसंघी पुरोहितों एवं धर्मबहनों और सभी काथलिक विशवासियों से महाधर्माध्यक्ष के लिए प्रार्थना की अपील करते हुए बताया कि महाधर्माध्यक्ष मोसेस को गंभीर बीमारी की हालत में 13 जून को ढाका के स्क्वायर अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल में भर्ती कराते समय कोविद -19 परीक्षण के लिए खून लिया गया। जिसकी रिपोर्ट मंगलवार को आई और दुःख की बात है कि वे कोविद-19 की बीमारी से ग्रसित हैं।

विकर जनरल ने रविवार को लाइव-स्ट्रीम कोरपुस ख्रीस्ती पर्व का पवित्र मिस्सा के शुरु में महाधर्माध्यक्ष के बारे में बताया और सभी विश्वासियों से उनके स्वास्थ्य के लिए प्रार्थना का अनुरोध किया।

 महाधर्माध्यक्ष कोस्टा की गंभीर स्थिति के बारे में खबरें बांग्लादेश के छोटे काथलिक समुदाय में तेज़ी से फैलीं, जो देश और विदेश दोनों जगह हैं। कई लोगों ने महाधर्माध्यक्ष के साथ अपनी निकटता व्यक्त की, आश्वासन दिया और उनके स्वास्थ्य लाभ के लिए प्रार्थनाएं करने का आश्वासन दिया।

बांग्लादेश काथलिक स्टूडेंट्स मूवमेंट (बीसीएसएम) ने कहा कि इसके सदस्य "उनकी शीघ्र स्वस्थ होने के लिए प्रार्थना" कर रहे हैं।

महाधर्माध्यक्ष मोसेस कोस्टा

पवित्र क्रूस धर्मसंघ के सदस्य 69 वर्षीय महाधर्माध्यक्ष कोस्टा, बांग्लादेश के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (सीबीसीबी) के महासचिव हैं और वे सीबीसीबी स्वास्थ्य देखभाल आयोग के अध्यक्ष भी हैं।

संत पापा जॉन पॉल द्वितीय ने उन्हें 1996 में दिनाजपुर का धर्माध्यक्ष नियुक्त किया और 2011 में संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें ने उन्हें चित्तागोंग में स्थानांतरित कर दिया। संत पापा फ्राँसिस ने 2017 में चित्तागोंग धर्मप्रांत को महाधर्मप्रांत और धर्माध्यक्ष कोस्टा को महाधर्माध्यक्ष का पद दिया।

बांग्लादेश में कोविद -19

बांग्लादेश ने मंगलवार को कोविद -19 से 53 लोगों के मरने की पुष्टि मिली, जिससे देश में कनल 1,262 लोगों की मौत हो गई। देश में पुष्ट संक्रमणों की संख्या 94,000 से अधिक हो गई है।

बांग्लादेश के अल्पसंख्यक ईसाई समुदाय के 30 से अधिक लोग संक्रमित हो गए हैं और हाल के हफ्तों में 5 की मौत हो गई है।

चित्तागोंग,  आधिकारिक रूप से चटोग्राम के रूप में जाना जाता है, यह देश का दूसरा सबसे बड़ा शहर और एक प्रमुख वित्तीय केंद्र है। यहां हाल के हफ्तों में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से वृद्धि देखी है। इसके कोतवाली क्षेत्र को एक हॉट-स्पॉट के रूप में चिह्नित किया गया है।

17 June 2020, 15:10