खोज

Vatican News
पेरू के धर्माध्यक्ष पेरू के धर्माध्यक्ष  (AFP or licensors)

भूखमरी दूर करने हेतु एकात्मता को बढ़ावा देते पेरू के धर्माध्यक्ष

पेरू का काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन, देश के समाज के साथ एक होना चाहता है ताकि कोविड-19 के बाद की स्थिति का सामना किया जा सके तथा जीवन एवं अर्थव्यवस्था के पुनःनिर्माण हेतु रास्ता तैयार किया जा सके।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

पेरू, मंगलवार, 12 मई 2020 (वीएन)- पेरू के धर्माध्यक्षों ने इसे "संयुक्त एकात्मक पैक्ट" कहा है जिसका लक्ष्य है शून्य भूख पर ध्यान केंद्रित करना।

लातीनी अमरीकी काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष महाधर्माध्यक्ष मिग्वेल काब्रेजोस और कोसिका के धर्माध्यक्ष नोर्बेरतो स्त्रोतमन ने इस बात पर जोर दिया है कि महामारी के बाद आर्थिक पुनःनिर्माण किया जाना आवश्यक है किन्तु इसमें लोगों को नजरांदाज नहीं किया जाना चाहिए।

महामारी के प्रभाव के बाद संघर्ष

उन्होंने कहा कि लक्ष्य, कोरोनोवायरस महामारी के आघात-प्रभाव के बाद की कोशिश है, जो मौत का कारण बनी हुई है और जिससे आर्थिक बर्बादी और विस्थापन हो रहे हैं।

कलीसिया, पेरू के व्यापार, नागरिक समाज और सरकारी विभाग के साथ, इस समय की भयंकर आपदा में, एक सामंजस्यपूर्ण और मानवीय प्रतिक्रिया उत्पन्न करने के लिए कार्य कर रही है। लोगों में भय बढ़ रहा है और इसका प्रभाव भावी पीढ़ी पर भी पड़ेगा।

संयुक्त एकात्मता पैक्ट, समाज के सभी विभागों का आह्वान करता है कि वह अर्थव्यवस्था एवं स्वास्थ्य के बीच संतुलन उत्पन्न करे।

धर्माध्यक्षों ने कहा, "जब अर्थव्यवस्था फिर से शुरू की जा रही है, उत्तेजना पर्याप्त नहीं है। अनौपचारिक अर्थव्यवस्था पर भरोसा करनेवाले लोगों को बेहतर श्रमिक अधिकार दिए जाने की आवश्यकता होगी।"  

महामारी समाप्त होने से दूर

पेरू में करीब 68,000 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं और 2000 लोगों की मौत हो चुकी है।

ब्राजील लातीनी अमरीका का सबसे प्रभावित देश है जहाँ 1,70,000 लोग संक्रमित हैं और 11,000 लोगों की मौत हो चुकी है। ये अंतिम आंकड़े नहीं हैं क्योंकि विश्व अब भी महामारी समाप्त होने से दूर है।

12 May 2020, 16:54