खोज

Vatican News
लेबनान का एक मस्जिद लेबनान का एक मस्जिद  (AFP or licensors)

लेबनान द्वारा संत पापा की छात्रवृत्ति सहायता का स्वागत

वाटिकन न्यूज के साथ हुए एक साक्षात्कार में, लेबनान के प्रेरितिक राजदूत महाधर्माध्यक्ष जोसेफ स्पितरी ने कहा कि लेबनान ने लेबनानी छात्रों के लिए संत पापा की छात्रवृत्ति सहायता का स्वागत किया है। उन्होंने देश की समस्याओं के बारे में भी बताया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

लेबनान, शनिवार 16 मई 2020 (वाटिकन न्यूज) : लेबनानी लोगों ने "अपार खुशी और आभार की भावना" के साथ संत पापा फ्राँसिस की एकजुटता और निकटता के संकेत का स्वागत किया है, महाधर्माध्यक्ष जोसेफ स्पितरी ने शुक्रवार को कहा। वाटिकन न्यूज की सिस्टर बेर्नाडेट रीस से फोन पर बात करते हुए उन्होंने कहा, "किसी को भी संदेह नहीं था कि संत पापा फ्राँसिस अपने सभी पूर्वजों की तरह हमेशा लेबनान के करीब हैं।"

युवा छात्रों के लिए छात्रवृत्ति

वाटिकन प्रेस कार्यालय ने गुरुवार को घोषणा की थी कि संत पापा ने गंभीर संकट से गुजर रहे लेबनान में युवा लोगों के लिए 400 छात्रवृत्ति के समर्थन में 200,000 अमरीकी डालर का दान दिया है।

वाटिकन प्रेस कार्यालय ने स्पष्ट किया कि संत पापा की एकजुटता का संकेत प्रेरितिक राजदूतावास के माध्यम से भेजा गया है, जिसका उद्देश्य विभाजन और पक्षपातपूर्ण हित को पार करते हुए, देश की आम भलाई में सभी को शामिल करना है। लेबनान का संकट, दुख और गरीबी है, जो विशेष रूप से युवा पीढ़ियों की आशा को छीन रहा है जो एक कठिन वर्तमान से गुजर रहे हैं और अनिश्चित भविष्य को देख रहे हैं।

लेबनान की शिक्षा का उच्च स्तर

महाधर्माध्यक्ष स्पितरी ने बताया कि लेबनान में युवाओं की शिक्षा मौलिक है और देश में हमेशा एक "उच्च शैक्षिक प्रणाली है जो पूरे मध्य पूर्वी क्षेत्र को प्रेरित करती है।"

दुर्भाग्य से, राजनीतिक और सामाजिक संकटों के कारण शैक्षिक प्रतिष्ठान को बहुत नुकसान हो रहा है। इसलिए "लेबनानी शिक्षा के उच्च मानकों" को बनाए रखना अत्यंत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह इस देश और युवा वर्ग के भविष्य के लिए मौलिक है।

महाधर्माध्यक्ष स्पिरती ने कहा कि आंकड़े और युवा लोगों के साथ उनके व्यक्तिगत अनुभव बताते हैं कि अधिकांश युवा अध्ययन करना चाहते हैं और जीवन में उन्नति करना चाहते हैं, इसलिए "हमें उनके सपनों को साकार करने में मदद करनी होगी।"।

लेबनानी सह-अस्तित्व और बंधुत्व

दुनिया के सबसे धार्मिक रूप से विविध देशों में से एक, लेबनान की लगभग 6.8 मिलियन जनसंख्या में 60 प्रतिशत मुस्लिम, 34 प्रतिशत ईसाई और ड्रूज, यहूदी धर्म और अन्य लोगों का अनुमान है।

संत पापा के दान की घोषणा करते हुए, वाटिकन प्रेस कार्यालय ने कहा कि संत पापा लेबनान की स्थिति से परिचित हैं और उनके लिए चिंता करते हैं, जो हमेशा से पूरी दुनिया" के लिए "सह-अस्तित्व और बंधुत्व का एक उदाहरण रहा है।"

महाधर्माध्यक्ष स्पितरी ने कहा कि लेबनान में विभिन्न धार्मिक पृष्ठभूमि के लोगों का एक साथ रहने के लिए शिक्षा का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। एक साथ रहने के लिए एक बहुत अच्छे उदाहरण के रूप में, उन्होंने देश में 14 मई की घटना के बारे में बताया। यह मानव बंधुत्व की उच्च समिति के निमंत्रण के जवाब में था, जिसने दुनिया भर के सभी धर्मों के विश्वासियों को प्रार्थना, उपवास और दान के कार्यों के लिए 14 मई को आध्यात्मिक रूप से एकजुट करने के लिए कहा था, ताकि कोरोना वायरस महामारी से मानवता को बचाने के लिए ईश्वर से याचना की जा सके।

यहूदी, ईसाई और मुस्लिम धर्मगुरुओं से बने, मानव बंधुत्व की उच्च समिति दुनिया में सामंजस्य और शांति के लिए प्रतिबद्ध है।

 

16 May 2020, 14:52