खोज

Vatican News
बीच में कार्डिनल चार्ल्स  बो बीच में कार्डिनल चार्ल्स बो  (AFP or licensors)

कार्डिनल बो द्वारा युद्धविराम का आह्वान

वर्मा के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष कार्डिनल चार्ल्स बो ने संत पापा फ्राँसिस एवं संयुक्त राष्ट्र के महासचिव अंतोनियो के साथ वैश्विक संघर्ष विराम का आह्वान किया है जब पूरी दुनिया कोरोनो वायरस आपातकाल का सामना कर रही है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

म्यानमार, मंगलवार, 28 अप्रैल 2020 (वीएन)- एक वक्तव्य में यांगोन के महाधर्माध्यक्ष ने कहा है, "हम युद्ध के संकट का अंत करें और उस बीमारी से लड़ें जो दुनिया को तबाह कर रही है। हर जगह संघर्ष को रोककर तत्काल इसकी शुरूआत की जाए। आज हमेशा से कहीं अधिक मानव परिवार के सभी सदस्यों को इसकी जरूरत है।"

वक्तव्य में कार्डिनल बो म्यानमार में संघर्ष के दुःखद परिणामों को याद किया है जहाँ महामारी से लोगों की रक्षा करने की सरकार की प्रतिबद्धता और इस दिशा में उठाये गये ठोस प्रयासों के बावजूद हाल के महीनों में स्थानीय मिलिशिया और सेना बलों के बीच झड़पों में वृद्धि हुई है, जैसे कि राखीन और शान राज्यों में।

कार्डिनल के अनुसार, पूर्ण कोरोना वायरस संकट में लगातार सैन्य अभियान "देश के लिए विनाशकारी परिणाम" होगा। संघर्ष ने इसे अधिक गंभीर बना दिया है। यह सैनिकों को अनावश्यक रूप से संक्रमण के लिए उजागर करता और नागरिकों को खतरे में डालता है।

अतः कार्डिनल ने राष्ट्रीय एवं स्थानीय नेताओं से अपील की है कि इस विकट समय में, सभी के कल्याण के लिए, सच्चाई और सहयोग का रास्ता अपनायें, क्योंकि संघर्ष का रास्ता सभी के लिए केवल दुखद परिणामों को लायेगा जो पहले से ही बड़ी कठिनाई झेल रहे हैं।

उन्होंने कहा है कि यदि हम म्यानमार को सचमुच एक संगठित, शांतिमय और समृद्ध देश बनाना चाहते हैं तो हमें इसी वक्त सम्मानजनक, ऊर्जावान और प्रभावी निर्णयों को प्राथमिकता देने की आवश्यकता है। हमें भविष्य को देखते हुए तथा संघर्ष को दरकिनार करते हुए बुद्धिमानी से काम लेना है। उन्होंने दोनों पक्षों के बीच वार्ता को प्रोत्साहन दिया है।

 

28 April 2020, 17:00