खोज

Vatican News
बेरगमो का कब्रस्थान बेरगमो का कब्रस्थान  (ANSA)

बेरगमो हमेशा संत पापा के हृदय में, धर्माध्यक्ष बेस्की

यूरोप में उत्तरी इटली का बेरगमो शहर कोरोना वायरस की महामारी से सबसे अधिक प्रभावित है। संत पापा फ्राँसिस ने बेरगमो के धर्माध्यक्ष फ्राँचेस्को बेस्की से फोन द्वारा सम्पर्क कर, वहाँ के लोगों के प्रति अपना सामीप्य प्रकट किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 19 मार्च 20 (वीएन)˸ इटली के बेरगमो के धर्माध्यक्ष फ्राँचेस्को बेस्की ने वाटिकन रेडियो को बतलाया कि बेरगमो संत पापा के हृदय में है और वे वहाँ के लोगों के लिए हरेक दिन प्रार्थना कर रहे हैं। धर्मप्रांत के वेबसाईट में धर्माध्यक्ष ने कहा है कि संत पापा फ्राँसिस ने उनसे बुधवार को फोन द्वारा सम्पर्क कर, उन्हें अपनी सहानुभूति एवं समर्थन व्यक्त किया। 

उन्होंने कहा, "संत पापा ने मुझे, पुरोहितों, रोगियों, रोगियों की मदद करने वालों एवं हमारे सभी समुदायों को अपना पितातुल्य स्नेह प्रदान किया। यद्यपि उन्हें सभी चीजों की जानकारी है किन्तु उन्होंने पुनः विस्तार से लोगों की स्थिति के बारे पूछा।" उन्होंने कहा कि संत पापा वहाँ मरनेवालों की संख्या तथा परिवारों की सामाजिक दूरी एवं लोगों की इस विकट स्थित में हाल जानकर बहुत दुःखी हुए।  

धर्माध्यक्ष ने कहा, "उन्होंने मुझे सभी लोगों तक उनकी आशीष पहुँचाने का आग्रह किया जो सहानुभूति, कृपा, प्रकाश और शक्ति प्रदान करता है।"

रोगियों के नजदीक

संत पापा ने बीमारों एवं दूसरों की अच्छाई के लिए साहसिक रूप से कार्य करने वालों के प्रति भी अपना आध्यात्मिक सामीप्य प्रकट किया, खासकर, डॉक्टरों, नर्सों, नागरिक एवं स्वास्थ्य अधिकारियोँ तथा कानून प्रवर्तन एजेंसियोँ को।

संत पापा ने पुरोहितों को भी विशेष रूप से धन्यवाद दिया। वे न केवल मरनेवालों एवं अस्पताल में भर्ती लोगों के प्रति हमदर्दी दिखाई, बल्कि परिवारों के लिए किये जा रहे सामीप्य के हरसंभव साकारात्मक तरीकों की भी सराहना की।

बेरगमो धर्मप्रांत में रक्षक दूत फाउंडेशन के माध्यम से, एक टेलीफोन हेल्पलाइन है जो जरूरतमंद लोगों को मनोवैज्ञानिक या आध्यात्मिक सहायता प्रदान करता है। पुरोहित, धर्मसमाजी, लोकधर्मी और मनोवैज्ञानिक या आध्यात्मिक सलाहकार धर्मप्रांतीय परिवार की तरह सेवा प्रदान कर रहे हैं।  

संत पापा की चिंता

धर्माध्यक्ष ने कहा कि संत पापा ने वादा किया है कि वे हमें अपने हृदय में रखेंगे और अपने दैनिक प्रार्थनाओं में याद करेंगे। उन्होंने कहा, "उनकी चिंता एवं पिता का आशीर्वाद मेरे एवं पूरे धर्मप्रांत तथा सभी लोगों के लिए संत पापा जॉन 23वें के स्नेह की गूँज का ठोस सिलसिला है जिनसे हमने कल प्रार्थना की थी।"  

इटली- लोम्बार्दी- बेरगमो

चीन के बाद इटली, यूरोप एवं विश्व में सबसे संक्रमित देश है। इटली के अधिकांश मामले उत्तरी लोम्बार्डी क्षेत्र में केंद्रित हैं और बेरगमो में सबसे ज्यादे मामले दर्ज हुए हैं।

इटली में बुधवार को 475 मौतें हुई जो एक दिन में मौतों की सबसे बड़ी संख्या है। 15 मार्च तक एक दिन में मौतों की अधिकतम संख्या 350 थी। चीन में कुल 3,249 मौतें हुई हैं जबकि इटली में बुधवार तक कुल 2,978 लोगों की मृत्यु हो गयी है।  इटली के शहरों, लोम्बार्दी में 12,266 और बेरगमो में 4,305 लोग संक्रमित हैं।

कोरोना वायरस के कारण पिछले सप्ताह इटली में 10 पुरोहितों की मृत्यु हो चुकी है जिनमें से अधिकार बेरगमो धर्मप्रांत के थे। सोमवार को वाटिकन रेडियो को दिये एक साक्षात्कार में धर्माध्यक्ष बेस्की ने कहा कि उनके 20 पुरोहितों को अस्पताल में भर्ती किया गया था और उनमें से 6 लोग मर चुके हैं। इस सप्ताह जिन पुरोहितों की मृत्यु हुई और जो गंभीर स्थिति में अस्पताल में भर्ती हैं उनकी संख्या बहुत अधिक है।

 

19 March 2020, 16:28