खोज

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर  (AFP or licensors)

22 मार्च ˸ एकात्मता एवं प्रार्थना हेतु विश्व दिवस

विश्वभर के धर्मसमाजियों ने 22 मार्च को विश्व स्तर पर एकात्मता एवं प्रार्थना दिवस का आह्वान किया है ताकि कोरोना वायरस की महामारी से पीड़ित लोगों के प्रति सामीप्य प्रकट किया जा सकें।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 19 मार्च 20 (रेई)˸ विभिन्न धर्मसंघों की परमाधिकारिणियों के अंतरराष्ट्रीय संघ की अध्यक्ष सिस्टर जोलान्ता काफता रमी ने कहा, "यह हम प्रत्येक के लिए एक-दूसरे के प्रति सहानुभूति रखते हुए, दुनिया भर में कोरोना वायरस संकट का जवाब देने का समय है, विशेषकर, जो सबसे कमजोर एवं सबसे अधिक खतरे में हैं।" उन्होंने धर्मसमाजों के सदस्यों से आह्वान किया कि अगले रविवार 22 मार्च को, विश्व स्तर पर एक दिवसीय एकत्मता एवं प्रार्थना दिवस रखा जाए, खासकर, उनके प्रति जो कोरोना वायरस महामारी से प्रभावित हैं।

सिस्टर जोलान्ता ने कहा कि यह समय विश्व स्वास्थ्य संगठन एवं हमारी सरकारों के निर्देशों का पालन करने का समय है।

विशेष समय

सिस्टर ने कहा कि यह प्रार्थना तथा एक-दूसरे की चिंता करने की हमारी जिम्मेदारी को, एकात्मता एवं जागरूकता द्वारा प्रकट करने का समय है।

उन्होंने कहा, "यह असाधारण समय हमें उदारता के कार्य एवं कृतज्ञता की भावना व्यक्त करने हेतु जगह देने का समय है, खासकर, उनके प्रति जो रोगियों की सेवा कर रहे हैं, दवाई की खोज कर रहे हैं और जो सार्वजनिक सेवा में संलग्न हैं। चाहे वे जहाँ कहीं भी हों अथवा जो कोई भी हों, वे विश्वभर की धर्मबहनों की प्रार्थनाओं को महसूस कर सकें।"

 

19 March 2020, 15:57