खोज

Vatican News
ब्रेक्सिट की खबर ब्रिटेन समाचार पत्र ब्रेक्सिट की खबर ब्रिटेन समाचार पत्र   (AFP or licensors)

ब्रेक्सिट को एक अवसर के रूप में देखा जाए, यूरोपीय धर्माध्यक्ष

यूरोपीय संघ के धर्माध्यक्षीय सम्मेलनों के आयोग ने यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के बाहर निकलने के आलोक में एक बयान जारी किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

ब्रिटेन, सोमवार 3 जनवरी 2020 (वाटिकन न्यूज) : यूरोपीय संघ के धर्माध्यक्षीय सम्मेलनों के आयोग द्वारा जारी ब्रेक्सिट पर बयान में लिखा गया है कि "अभिव्यक्ति और लोकतंत्र की स्वतंत्रता के रक्षक के रूप में, यूरोप में काथलिक कलीसिया 2016 के जनमत संग्रह के दौरान ब्रिटिश नागरिकों द्वारा व्यक्त की गई इच्छा का सम्मान करती है।"

ब्रिटेन ने शुक्रवार देर रात आधिकारिक रूप से यूरोपीय संघ छोड़ दिया।

धर्माध्यक्ष लिखते हैं कि वे ब्रिटेन और यूरोपीय संघ के बीच हाल ही में प्राप्त ब्रेक्सिट डील का स्वागत करते हैं। इसे सामान्य ज्ञान और अच्छे पड़ोसी संबंधों की जीत के रूप में देखा जा सकता है।

बयान में कहा गया कि नो-डील परिदृश्य,"ब्रिटेन और यूरोपीय संघ दोनों पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता था और सबसे कमजोर लोगों के लिए हानिकारक हो सकता था।"

यद्यपि "यह एक लंबी और चुनौतीपूर्ण प्रक्रिया थी,"  लेकिन यह "यूरोपीय लोगों के बीच नई गतिशीलता को ट्रिगर करने और यूरोप में समुदाय की भावना के पुनर्निर्माण का अवसर" भी हो सकता है।

अंत में, धर्माध्यक्ष आश्वासन देते हैं कि यद्यपि ब्रिटेन अब यूरोपीय संघ का सदस्य नहीं है, "यह यूरोप का हिस्सा बना रहेगा" और ब्रिटेन धर्माध्यक्षीय सम्मेलन "यूरोप की कलीसिया का अभिन्न अंग" बना रहेगा।

03 February 2020, 15:34