खोज

Vatican News
कार्डिनल माइकेल चरणी कार्डिनल माइकेल चरणी 

ईश्वर की सहायता से तस्करी का मुकाबला कर सकते हैं, कार्डिनल चरणी

8 फरवरी मानव तस्करी के खिलाफ 6 वें विश्व प्रार्थना दिवस है। इस दिन कलीसिया सूडानी मूल की धर्मबहन संत बखिता का त्योहार भी मनाती है, वे तस्करी के खिलाफ कलीसिया की प्रतिबद्धता का सार्वभौमिक प्रतीक बन गई हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

रोम, शनिवार 8 फरवरी 2020 (वाटिकन न्यूज) : दुनिया भर में आधुनिक दासता के चंगुल में 40 मिलियन से अधिक लोग हैं, जिनमें से 70% महिलाएं हैं, जबकि लगभग 20% नाबालिग हैं।

उन ग़ुलामों और शोषित पुरुषों, महिलाओं और बच्चों की दुर्दशा को उजागर करने के लिए  समग्र मानव विकास हेतु गठित परमधर्मपीठ से संलग्न प्रवासी और शरणार्थी विभाग के उपसचिव कार्डिनल माइकेल चरणी एस.जे. शनिवार की शाम रोम स्थित पादुआ के संत अंतोनी महागिरजाघर में जागरण प्रार्थना की अध्यक्षता करेंगे।

वाडिकन न्यूज संवाददाता फ्राँसिस्का के साथ हुए बातचीत में उन्होंने कहा कि 8 फरवरी  को सभी लोगों को एक साथ आने के लिए आमंत्रित किया जाता है ताकि मिलकर हम "मानव तस्करी के खिलाफ संघर्ष में हमारे नवीकरण और मजबूती" के लिए प्रार्थना कर सकें।

“हमें एक-दूसरे की मदद की ज़रूरत है और ख़ास तौर पर हमें ईश्वर की मदद की ज़रूरत है ताकि हमारे अपने आस-पास हो रहे मानवीय अत्यचार को देख सकें और मानव तस्करी के शिकार लोगों को आज़ाद किया जा सके। पुनर्वास किया जा सके वे गरिमापूर्ण और मानवीय तरीके से जीवन जीना शुरू कर सकें।”

8 फरवरी को संत बखिता के पर्व दिवस पर कार्डिनल चरणी ने  उनकी मध्यस्ता से प्रार्थना करने के लिए आमंत्रित किया जो मानव तस्करी के शिकार हैं। हम उन लोगों के हृदय परिवर्तन के लिए प्रार्थना करते हैं जो इस दुष्टकार्य में संलग्न हैं और हमारी कलीसिया के उन सदस्यों विशेष कर उन धर्मबहनों को धन्यवाद देते हैं जो जो मानव तस्करी से पीड़ित लोगों की सेवा में काम कर रही हैं।

मानव तस्करी के खिलाफ 6वें विश्व प्रार्थना दिवस के कार्यक्रमों में शनिवार को जागरण प्रार्थना होगी और रविवार को 10 बजे सुबह कास्तेल संत अंजेलो से एक प्रदर्शन जुलूस शुरु होगा, जिसका शीर्षक है,"एक साथ तस्करी के खिलाफ। रोम के स्थानीय समय अनुसार 12 बजे  संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में समाप्त होगा।

इन समारोहों का सह-संचालन तालिथाकुम द्वारा किया जा रहा है, जो तस्करी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय जीवन का नेटवर्क है।

संत पापा फ्राँसिस ने "गुलाम, शोषित पुरुषों, महिलाओं और बच्चों की मदद करने के लिए प्रतिबद्ध लोगों को उत्साहित करने के लिए 2015 में विश्व दिवस की स्थापना की।

सन्त पापा फ्राँसिस ने गुरुवार को फरवरी माह के प्रार्थना मनोरथ के साथ एक विडियो सन्देश जारी किया है। इस माह का प्रार्थना मनोरथ हम सबको आप्रवासियों की पुकार सुनने हेतु आमंत्रित करता है। हम प्रार्थना करें ताकि मानव तस्करी और अपराधिक गतिविधियों के शिकार बनाये जानेवाले हमारे आप्रवासी भाइयों और बहनों की पुकार सुनी जाये तथा उसपर विचार किया जाये।

08 February 2020, 14:58