खोज

Vatican News
अमेरिका के धर्माध्यक्ष अमेरिका के धर्माध्यक्ष 

अमेरिका की कलीसिया द्वारा लैटिन अमेरिका की कलीसिया को सहायता

50 से अधिक वर्षों से संयुक्त राज्य अमेरिका की कलीसिया चंदा जमाकर लैटिन अमेरिका और कैरिबियन के धर्मप्रांतों द्वारा उदार कार्यों को सम्पन्न करने हेतु अनुदान देती आ रही है। इस वर्ष 25 और 26 जनवरी का चंदा उन देशों को भेजा जाएगा।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाशिंगटन, बुधवार 22 जनवरी 2020 (रेई) : लैटिन अमेरिका और कैरिबियन के धर्मप्रांतों की कलीसिया के साथ संयुक्त राज्य अमेरिका के काथलिकों की एकजुटता का संकेत 25 और 26 जनवरी का दान संग्रह है। अमेरिकन धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (यूएससीबीबी) द्वारा आयोजित वार्षिक संग्रह "पचास से अधिक वर्षों से जारी है। जिसका उद्देश्य लैटिन अमेरिकी कलीसिया के धर्मप्रांतीय उदार कार्यक्रमों, युवा लोगों और परिवारों के प्रेरितिक देखभाल" में मदद करना है।

वार्षिक संग्रह की निधि का उपयोग

अमेरिकी धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष ओतावियो चिस्नेरोस ने अमेरिका के काथलिकों को उनकी उदारता के लिए धन्यवाद दिया जिनके सहयोग से लैटिन अमेरिका के कारितास को उदार कार्यों को सम्पन्न करने और ख्रीस्तियों को अपने विश्वास को सक्रीय रुप से जीने में मदद मिली। उन्होंने कहा कि वार्षिक संग्रह की निधि से 150 से अधिक गरीब युवाओं को 'स्थानीय समुदायों के बीच सुसमाचार का प्रचार करने और पूरे देश में अपने विश्वास को साझा करने का प्रशिक्षण मिला। वाशिंगटन कलीसिया के आर्थिक मदद से हैती के 235 युवाओं को "पनामा में आयोजित विश्व युवा दिवस 2019 में भाग लेने का अवसर मिला। इन युवाओं ने संत पापा फ्राँसिस का दर्शन किया तथा उनके "आशा और दया भरे प्रवचनों को सुनने" में कामयाब रहे।

यूएससीसीबी अध्यक्ष ने कहा, “मसीह का प्रेम हमें प्रेरित करता है कि हम लैटिन अमेरिका कलीसिया, अपने विश्वास को साझा करने और येसु के करीब आने की इच्छा रखने वाले सभी लोगों की मदद करें।”  उन्होंने यह भी कहा कि लैटिन अमेरिकी कलीसिया को खासकर तूफान और भूकंप जैसे प्राकृतिक आपदाओं से तबाह हुए क्षेत्रों के लिए, नवंबर 2019 में, लगभग 4.2 मिलियन डॉलर दान किए गए थे।

22 January 2020, 16:27