खोज

Vatican News
प्राधिधर्माध्यक्ष, कार्डिनल लुई राफेल साको प्राधिधर्माध्यक्ष, कार्डिनल लुई राफेल साको   (AFP or licensors)

प्राधिधर्माध्यक्ष साको का डर है कि इराक युद्ध क्षेत्र न बन जाए

बगदाद में अमेरिकी हमले में ईरान के जनरल सोलेमानी मारा गया, खलदेई काथलिक कलीसिया के प्राधिधर्माध्यक्ष, कार्डिनल लुई राफेल साको ने सभी पक्षों से बातचीत के लिए अपील की।

माग्रेट सुनीता मिंज–वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 6 जनवरी 2020 (वाटिकन न्यूज) : खलदेई काथलिक कलीसिया के प्राधिधर्माध्यक्ष, कार्डिनल लुई राफेल साको ने बगदाद में अमेरिकी ड्रोन हमले के मद्देनजर शनिवार को एक मजबूत अपील जारी की जिसमें ईरानी जनरल कासिम सोलेमानी की मौत हुई और उसके बाद विरोध प्रदर्शन हुए।

तनाव का दिन

प्राधिधर्माध्यक्ष साको की अपील एक दिन के बाद हुई जिसमें हजारों लोगों ने इराक की राजधानी बगदाद में जनरल सोलेमानी की मौत पर शोक व्यक्त किया। शाम के समय, एक रॉकेट बगदाद के ग्रीन ज़ोन के पास गिरा, जो अमेरिकी दूतावास के पास एक भारी किलाबंद क्षेत्र था। एक अन्य रॉकेट पास के पड़ोस जदरिया में गिरा और दो अन्य को बालाद एयर बेस की ओर निर्देशित किया गया। इराकी सैन्य बयान के अनुसार, इन रॉकेट हमलों के परिणामस्वरूप किसी की मौत नहीं हुई है और किसी ने जिम्मेदारी का दावा नहीं किया है।

शनिवार को एक ट्वीट में, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने ईरान को चेतावनी दी कि अमेरिका ने पहले ही 52 साइटों का चयन किया है, जिन पर "बहुत तेज़ और बहुत गंभीर" हमला किया जाएगा, "यदि ईरान किसी भी अमेरिकी या अमेरिकी संपत्ति पर हमला करता है"। 52 नंबर ईरान में 1979 और 1981 के बीच पकड़े गये 52 अमेरिकी बंधकों का प्रतीक है।

 सभी को शांति की जरूरत 

बबिलोन धर्मप्रांत के सहायक धर्माध्यक्ष, मार श्लेमोन वार्डुनी ने वाटिकन न्यूज के साथ एक साक्षात्कार में कहा कि इराक में एक नया युद्ध देश के लोगों और ईसाई समुदाय के लिए भयानक होगा। सशस्त्र संघर्ष के परिणामों को भोगने वाले हमेशा कमजोर और नीचे तबके के लोग ही होते हैं।

कल, संत पापा फ्रांसिस ने एक ट्वीट में शांति के लिए प्रार्थना की: “हमें विश्वास करना चाहिए कि दूसरों को शांति की उतनी ही आवश्यकता है जितनी हमें हैं। शांति तब तक हासिल नहीं होगी जब तक हम इसके लिए आशा नहीं करेंगे। आइए, हम प्रभु से शांति का वरदान मांगें!”

06 January 2020, 17:11