खोज

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर  (AFP or licensors)

युवा ईश्वर प्रदत्त मूल्यवान उपहार, सिस्टर फर्नांडिस

उर्सुलाईन फ्राँसिसकन धर्मसमाज की धर्मबहन लिदविन फर्नांडिस, भारतीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (सीसीबीआई) के महिला आयोग की नई महासचिव नियुक्त की गयी हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

भारत, बृहस्पतिवार, 17 अक्टूबर 2019 (एशियान्यूज)˸ एक महिला युवा संचालिका के रूप में युवाओं के सम्पर्क में आने का उनका एक लम्बा अनुभव है। उनके लिए युवाओं की सेवा करना निश्चय ही चुनौतीपूर्ण है किन्तु युवाओं में प्रभु को देखना उनके लिए एक महान कृपा है।

वे अपनी बुलाहट, मिशन एवं अपनी बीमारी के बारे बतलाते हुए कहती हैं कि यह एक कृपा के रूप में है जो उन्हें समझने में मदद देता है कि प्रभु उन्हें मिशनरी के रूप में दूसरों की सेवा करने के लिए बुला रहे हैं। वे युवाओं के लिए कार्य करना चाहती हैं ताकि प्रत्येक युवा यह महसूस कर सके कि वह ईश्वर की नजरों में मूल्यवान है।

उन्होंने कहा कि युवाओं के लिए काम करना चुनौतीपूर्ण है। यह ईश्वर की ओर से एक महान वरदान है कि हम उन्हें (ईश्वर) युवाओं में देख पाते हैं। युवाओं के लिए हर क्षण, हर कदम और हर विचार नये होते हैं। उन्होंने बतलाया कि युवाओं के साथ अपने कार्य के दौरान उन्हें कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा एवं उन्हें अनजान लोगों से पत्र, अपमान, लिंग भेदभाव आदि का सामना करना पड़ा। फिर भी उनके लिए सबसे महत्वपूर्ण बात है कि हर युवा यह महसूस करे कि वह प्यारा, मूल्यवान एवं ईश्वर का अनूठा वरदान है।

सीसीबीआई के महिला आयोग की महासचिव नियुक्त की जाने पर वे कहती हैं कि वे इसी बात की घोषणा करती रहेंगी तथा सभी को यह एहसास देने का प्रयास करेंगी कि वे ईश्वर की नजरों में मूल्यवान हैं। उन्होंने कहा कि आज हम याचना करें कि हम अंधकार में जलती रोशनी बन सकें।  

17 October 2019, 16:06