Cerca

Vatican News
कार्डिनल सेराफिम फर्नांडिस डे आराजो कार्डिनल सेराफिम फर्नांडिस डे आराजो  

ब्राजील के कार्डिनल सेराफिम फर्नांडिस डे आराजो नहीं रहे

बेलो होरिज़ोंटे के महाधर्माध्यक्ष सेवानिवृत्त कार्डिनल सेराफिम फ़र्नांडिस डी अराज़ो का 95 वर्ष की आयु में निधन हो गया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 9 अक्टूबर 2019 (रेई) : बेलो होरिज़ोंटे के महाधर्माध्यक्ष सेवानिवृत्त कार्डिनल सेराफिम फ़र्नांडिस डी अराज़ो का मंगलवार 8 अक्टूबर को 95 वर्ष की आयु में निधन हो गया। उनके निधन के बाद कार्डिनल मंडल में सदस्यों की संख्या 224 हो गई जिसमें 127 कार्डिनल मतदान प्रक्रिया में भाग ले सकते हैं और 97 कार्डिनलों की उम्र 80 वर्ष से ऊपर है वे मतदान प्रक्रिया में भाग नहीं ले सकते हैं।

बहमुखी प्रतिभा वाले कार्डिनल सेराफिम

कार्डिनल सेराफिम फर्नांडीस डी अराउजो का जन्म 13 अगस्त, 1924 को ब्राजील के ऑल्टो जेक्विटिंथा में मिनस नोवास में हुआ था। उन्होंने अपना बचपन इटामरंडीबा, जेकिटिनहोन क्षेत्र में भी गुजारा और 12 साल की उम्र में उन्होंने डायमांटीना सेमिनरी में पढ़ना शुरू किया, जहां उन्होंने मानव शास्त्र और दर्शनशास्त्र में स्नातक किया।

उन्हें रोम में अध्ययन के लिए चुना गया था, जहां उन्होंने ग्रेगोरियन विश्वविद्यालय से धर्मशास्त्र और कैनन लॉ में स्नात्कोतर की डिग्री हासिल की। उनका पुरोहिताभिषेक 12 मार्च, 1949 को रोम के संत जॉन लातेरन महागिरजाघर में हुआ। वे 1951 को ब्राजील लौटे और गोविया शहर की एक पल्ली में अपना याजकीय एवं प्रेरितिक कार्य करना शुरु किया। वहाँ उन्होंने 1957 तक अपनी सेवा दी।

इसी अवधि के दौरान उन्होंने कम्पैनिया इंडस्ट्रियल डे साओ रोबेर्टो में चापलिन के रूप में कार्य किया। 1956 से 1957 तक उन्होंने मिनास वेरीस की सैन्य पुलिस की तीसरी सैन्य बटालियन के सैन्य चापलिन के रुप में अपनी सेवा दी। वे डायनामेंटिना महाधर्मप्रांत के धार्मिक शिक्षा के निदेशक और प्रोविंशियल सेमिनरी में कैनन लॉ के प्रोफेसर भी थे। 1957 में कर्वेलो पल्ली के पल्ली पुरोहित बने। उन्होंने कई स्कूलों में शिक्षक के रूप में भी काम किया।

शिक्षा और सामाजिक संचार के प्रति उनकी प्रतिबद्धता

कार्डिनल डी अराजो शिक्षा और सामाजिक संचार के लिए प्रतिबद्ध थे। 1960 में, उन्हें बेलो होरिज़ोंटे के काथलिक विश्वविद्यालय में रेक्टर नियुक्त किया गया और कई वर्षों तक वे एक दैनिक रेडियो कार्यक्रम, "ए पलावरा दी देउस" के प्रभारी थे, जो कि रेडियो अमेरीका और एक रविवार टीवी कार्यक्रम द्वारा प्रसारित किया जाता था।

कार्डिनल डी अराज़ो ने 1962 से 1965 तक द्वितीय वेटिकन परिषद में भाग लिया और उन्होंने 1979 में प्यूब्ला में और 1992 में सान दोमिन्गो में आयोजित लैटिन अमेरिकी धर्माध्यक्षों (सीईएलएएम) के आम सम्मेलनों में भाग लिया।

उन्हें 21 फरवरी 1998 के कंसिसट्री में संत पापा जॉन पॉल द्वितीय द्वारा कार्डिनल बनाया गया था। 2004 से, वे ब्राजील में बेलो होरिज़ोंटे के महाधर्माध्यक्ष पद से सेवानिवृत्त हुए।

09 October 2019, 16:48