Cerca

Vatican News
हांगकांग का एक गिरजाघर हांगकांग का एक गिरजाघर  (AFP or licensors)

हांगकांग के गिरजाघरों में शांति के लिए घंटी

हांगकांग के सभी गिरजाघरों की घंटियाँ 1 सितम्बर को 1.00 बजे बजायी गईं तथा लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारी एवं पुलिस के बीच तनाव के शांतिपूर्ण समाधान के लिए प्रार्थना की गयी।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

हांगकांग, मंगलवार, 3 सितम्बर 19 (ऊकान)˸ हांगकांग में 1 सितम्बर को काथलिकों ने घंटी के साथ एक प्रार्थना में भाग लेकर हिंसा के अंत के लिए प्रार्थना की जो इन दिनों हांगकांग में जारी है।

हांगकांग के सभी गिरजाघरों की घंटियाँ 1 सितम्बर को 1.00 बजे बजायी गईं तथा लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारी एवं पुलिस के बीच तनाव के शांतिपूर्ण समाधान के लिए प्रार्थना की गयी।   

प्रार्थना के इस आंदोलन में कुल 44 कलीसियाओं ने भाग लिया जिनमें 21 काथलिक समुदाय, 16 अंगलिकन समुदाय, 5 मेथोडिस्ट तथा अन्य ख्रीस्तीय शामिल थे।

घंटी बजाकर प्रार्थना करने का आंदोलन एक स्थानीय काथलिक तेरेसा ली ने जारी की थी जिनकी उम्मीद थी कि यह हांगकांग के लिए लोगों के विवेक और उत्साह को प्रेरित करेगा।

तेरेसा ने चीन के धर्मप्रांतीय सप्ताहिक पत्रिका कौंग काओ पाओ को बतलाया कि कानून संशोधन बिल के कारण संघर्ष ने उन्हें गहरी चिंता में डाल दिया है तथा उन्हें महसूस हो रहा कि यही अनुभव बहुत लोग करते हैं।  

हांगकांग के संत जॉन बपटिस्ट पल्ली के एक काथलिक जोसेफ चान जिन्होंने रविवार को घंटी बजाकर की जाने वाली प्रार्थना में भाग लिया। उन्होंने बड़े दुःख के साथ कहा कि शहर दो भागों में बंट गया है अतः उसने उन लोगों के लिए प्रार्थना की जिन्होंने सार्वजनिक प्रदर्शनों में भाग लिया है तथा उनकी आशा है कि निर्माणात्मक वार्ता द्वारा बीजिंग-शासित विशेष प्रशासनिक क्षेत्र में शांति स्थापित किया जा सकेगा।

चान का मानना है कि घंटी बजाने का अभियान उन लोगों के प्रति जो विवादों में फंसे हैं कलीसियाओं की एकात्मता को प्रदर्शित करेगा।

उन्होंने कहा, "यद्यपि समाज में कई तरह के विचार हैं फिर भी कलीसिया को येसु की शिक्षा से शांति के संदेश का प्रचार करना चाहिए।"

प्रार्थना के आंदोलन के पूर्व की शाम को पुलिस ने हिंसा के बीच 40 नागरिकों को गिरफ्तार किया और प्रिंस एडवर्ड मेट्रो स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर कम से कम 10 लोग घायल हो गए। उसी दिन पुलिस ने नागरिक मानवाधिकार मोर्चा द्वारा आयोजित एक रैली को रोक दिया, फिर भी कई प्रदर्शनकारियों ने हांगकांग द्वीप पर अलग प्रदर्शन में भाग लिया।

हांगकांग के प्रेरितिक प्रशासक कार्डिनल जॉन तोंग ने अन्य धार्मिक नेताओं के साथ हांगकांग के अधिकारियों से अपील की है कि दो महीने के लिए हांगकांग को "कूलिंग-ऑफ पीरियड" के रूप में छोड़ दिया जाए।

हांगकांग में 6 धार्मिक नेताओं की सभा जिसमें काथलिक कलीसिया, प्रोटेस्टेंट कलीसिया, बौद्ध, ताओवादी, इस्लाम और कनफ्यियानिज्म के प्रतिनिधियों ने भाग लिया था और 30 अगस्त को प्रत्यर्पण कानून संशोधन बिल के कारण जारी तनाव के मद्देनजर उन्होंने सरकार से अपील की थी कि वे अच्छी तरह सोच लें तथा सार्वजनिक हित के लिए उसे तैयार करें।  

03 September 2019, 16:31