खोज

Vatican News
आमेजन के आदिवासी आमेजन के आदिवासी 

अमेजन में आदिवासी नेता की हत्या पर स्कैलब्रिअन मिशनरियों की आवाज

ब्राजील के मिशनरियों का कहना है कि देश के वर्षावन क्षेत्र में आदिवासी नेता की हत्या, अमेजन क्षेत्र में सुरक्षित खान को खोले जाने की नीति की एक खतरे की घंटी है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

अमेजन, बृहस्पतिवार, 1 अगस्त 2019 (वी.एन)˸ ब्राजील में स्कैलब्रिअन मिशनरियों का कहना है कि अमेजन में आदिवासी नेता की हत्या सचमुच एक खतरे की घंटी है एक ऐसी स्थिति की जो आर्थिक लाभ के लिए एक असाधारण निवास स्थान को नष्ट करने की अनुमति दे रही है।

वाजापी आदिवासी नेता, एमरया वाजापी की हत्या 23 जुलाई को अमापा में हुई थी जो फ्रेंच गायना की सीमा पर ब्राजील के उत्तरी भाग में स्थित है।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार उनकी हत्या सोने की खान में काम करने वालों के द्वारा चाकू मारकर की गयी थी जो वाजापी समुदाय के आरक्षित स्थानों में घुस चुके हैं।  

आमापा प्रांत का 90 प्रतिशत अमेजन वर्षा वन से ढ़का है और अधिकांश क्षेत्र को आधिकारिक रूप से सुरक्षित किया गया है किन्तु हाल में जारी सरकार की नीति ने अमेजन को खान खोदने वालों के लिए खोल दिया है, यही कारण है कि आदिवासी जमीन पर अतिक्रमण बढ़ गया है।

एमरया वाजापी की ह्त्या के बाद जारी एक वक्तव्य में स्कैलब्रिअन मिशनरी धर्मबहनों की सुपीरियर जेनेरल सिस्टर नेवसा दी फातिमा मरियानो ने हत्या की निंदा की है तथा कहा है कि "यह आदिवासी लोगों के खिलाफ नफरत फैलाने वाले अभियानों का परिणाम है।"

उन्होंने इसे ब्राजील में आदिवासी लोगों को नष्ट करने का कार्य कहा है। सिस्टर ने कहा है कि यह अविश्वसनीय है कि आज अपने आर्थिक लाभ के लिए प्राकृतिक संसाधनों के शोषकों द्वारा उत्तरी अमेजन में प्रवेश कर, एक वाजापी समुदाय के नेता की हत्या की गयी है।  

उन्होंने बतलाया कि उन्हें क्षेत्र पर हमला करने, समाज को नष्ट करने और एक असाधारण निवास स्थान को तबाह करने की खुली छूट मिल गयी है।  

आदिवासी लोगों के अधिकारों की रक्षा हेतु समर्थन की अपील

स्कैलब्रिअन मिशनरी धर्मबहनों की सुपीरियर जेनेरल सिस्टर नेवसा ने ब्राजील के धर्माध्यक्षों द्वारा जारी आदिवासी मिशनरी समिति के समर्थन की घोषणा की।

उनका मानना है कि घृणा को बढ़ावा देने की अपेक्षा, ब्राजील की सरकार को चाहिए कि वह आदिवासी लोगों के प्रति सम्मान को बढ़ावा दे, उनकी जमीन पर अतिक्रमण के खिलाफ उचित कार्रवाई करे और उनके अधिकारों को महत्व दे।

आंकड़े बतलाते हैं कि 2018 में जमीन और पर्यावरण की रक्षा करने वाले करीब 160 लोगों की हत्या कर दी गयी थी, जिनमें से कई आदिवासी थे।

पान-अमेजन धर्माध्यक्षों का सिनॉड

पेरू की यात्रा में आदिवासियों के साथ संत पापा
पेरू की यात्रा में आदिवासियों के साथ संत पापा

आमघर (पृथ्वी) एवं आदिवासियों के प्रति चिंता व्यक्त करते हुए संत पापा फ्राँसिस ने पान-अमेजन के धर्माध्यक्षों की एक विशेष धर्मसभा का आह्वान किया है। इस सिनॉड की विषयवस्तु होगी- "कलीसिया और संपूर्ण पारिस्थितिकी के लिए नया रास्ता"। सिनॉड वाटिकन में 2019 के अक्टूबर माह में सम्पन्न होगा।   

01 August 2019, 16:44