खोज

Vatican News
भारत के ख्रीस्तीय भारत के ख्रीस्तीय 

संविधान के समर्थन हेतु ख्रीस्तीय विश्वासियों से अपील

देश के सबसे पुराने काथलिक संगठन "अखिल भारतीय काथलिक संघ" की शतवर्षीय जयन्ती, धार्मिक और सांस्कृतिक विविधता को उजागर करता है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, महाधर्माध्यक्ष पीटर मचाडो और महाधर्माध्यक्ष अनिल कुट्टो ने 24 अगस्त को नई दिल्ली में अखिल भारतीय काथलिक संघ के शतवर्षीय जयन्ती समारोह में भाग लिया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

नई दिल्ली, बुधवार, 28 अगस्त 2019 (रेई)˸ 24 अगस्त को देश के सबसे पुराने काथलिक संगठन अखिल भारतीय काथलिक संघ की शतवर्षीय जयन्ती मनायी गयी जिसमें राजनीतिक एवं सामाजिक नेताओं ने समारोह में भाग लेने वाले काथलिक समुदाय को सम्बोधित किया।  

नई दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविंद केजरीवाल ने अखिल भारतीय काथलिक संघ के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह समाज के बहुधार्मिक लोकाचार का रक्षक है तथा काथलिक कलीसिया से आग्रह किया कि वे संवैधानिक, लोकतांत्रिक और धर्मनिरपेक्ष मूल्यों के लिए खड़े हों।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ सांप्रदायिक ताकतें देश को बांटना चाहते थे जो बुरी तरह असफल हुए क्योंकि भारत अपनी आस्था, जाति और विश्वास की विविधता को बनाये रखना चाहती है।

उन्होंने कहा, "हम सभी को एकजुट होना और देश के लिए काम करना है जो कठिन दौर से गुजर रहा है। हम सभी अखिल भारतीय काथलिक संघ की तरह कार्य करें क्योंकि एकता में ही हमारी शक्ति है।

केजरीवाल जो पहले कोलकाता की संत मदर तेरेसा संस्था के स्वयंसेवक रह चुके हैं उन्होंने कहा कि झोपड़ियों में रहने वालों की मदद करने और गरीबों के लिए अन्य योजनाओं पर काम करने के द्वारा वे कलीसिया के साथ अभी भी काम करते हैं।

जयन्ती समारोह के दौरान सेमिनार, वाद-विवाद एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किये गये थे।

सुप्रीम कोर्ट के एक सेवानिवृत्त न्यायाधीश जस्टिस कुरियन जोसेफ ने सेमिनार में कहा कि भारत सांस्कृतिक और धार्मिक रूप से विविध "लोगों का संघ" है और साथ ही राज्यों का भी एक संघ है।

उन्होंने कहा कि देश पीछे की ओर जा रहा है, खराब संविधान के कारण नहीं बल्कि कुछ नेता संविधान के मूल्यों का सम्मान नहीं करते हैं।

विश्वास आधारित कानूनी वकालत करने वाली संस्था एलायंस डिफेंडिंग फ्रीडम की निदेशक तहमीना अरोरा ने इस साल 160 से अधिक धार्मिक रूप से प्रेरित हमलों का हवाला दिया।

अखिल भारतीय काथलिक संघ की अध्यक्ष लैंसी डी कुन्हा तथा महासचिव ए. चिन्नाप्पन हैं। संगठन की स्थापना 1919 में मद्रास (चेन्नाई) में हुई थी।

28 August 2019, 16:15