खोज

Vatican News
मोमबत्ती जुलूस में शामिल भारत के ख्रीस्तीय मोमबत्ती जुलूस में शामिल भारत के ख्रीस्तीय   (AFP or licensors)

फरीदाबाद, एरनाकुलम-अंगमली मान्ड्या में धर्माध्यक्षों की नियुक्ति

भारत में सिरो-मलाबार कलीसिया की धर्माध्यक्षीय धर्मसभा ने फरीदाबाद, एरनाकुलम-अंगमाली तथा मान्ड्या में धर्माध्यक्षों की नियुक्ति की प्रकाशना की है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 30 अगस्त 2019 (रेई,वाटिकन रेडियो): भारत में सिरो-मलाबार कलीसिया की धर्माध्यक्षीय धर्मसभा ने फरीदाबाद, एरनाकुलम-अंगमाली तथा मान्ड्या में धर्माध्यक्षों की नियुक्ति की प्रकाशना की है।

फरीदाबाद में नियुक्ति

फरीदा धर्मप्रान्त के लिये, अब तक एरनाकुलम-अंगमली महाधर्मप्रान्त के सहयोगी धर्माध्यक्ष रहे, जोस पूथेनविथिल्ल की नियुक्ति की घोषणा की गई है। केरल के एड्डापाल्ली में 04 अप्रैल, 1961 को जोस पूथेनविथिल्ल का जन्म हुआ था। मैंगलोर में ईशशास्त्र एवं दर्शन की पढ़ाई के उपरान्त 26 दिसम्बर, 1987 को आप पुरोहित अभिषिक्त किये गये थे। पुरोहिताभिषेक के बाद आपने बेल्जियम स्थित काथलिक विश्वविद्यालय से ईश शास्त्र में डॉक्टरेड की उपाधि हासिल की तथा इसके बाद केरल की कई पल्लियों एवं गुरुकुल में सेवाएँ अर्पित करते रहे। 23 अगस्त 2013 को आप एरनाकुलम–अंगमाली सिरो-मलाबार महाधर्मप्रान्त के सहयोगी धर्माध्यक्ष नियुक्त किये गये थे।   

एरनाकुलम-अंगमाली में नियुक्ति  

इसी बीच, सिरो-मलाबार कलीसिया की धर्माध्यक्षीय धर्मसभा ने 30 अगस्त को ही एरनाकुमल-अंगमाली महाधर्मप्रान्त के प्रति-महाधर्माध्यक्ष पद पर धर्माध्यक्ष एन्थोनी कारियिल की नियुक्ति की घोषणा की है जो अब तक मान्ड्या में सिरो-मलाबार कलीसिया के सहयोगी धर्माध्यक्ष थे। यह भी प्रकाशित किया गया कि सन्त पापा फ्राँसिस ने उनकी नियुक्ति को अनुमोदन देकर उन्हें महाधर्माध्यक्ष का पद प्रदान कर दिया है।  

धर्माध्यक्ष एन्थोनी कारियिल सी.एम.आई. धर्मसमाजी हैं जिनका जन्म 26 मार्च सन् 1950 ई. को एरनाकुलम-अंगमाली महाधर्मप्रान्त के चेरथला गाँव में हुआ था। 27 दिसम्बर 1977 को आप पुरोहित अभिषिक्त किये गये थे। बैंगलोर के धर्माराम कॉलेज से आपने ईशशास्त्र में तथा पुणे विश्वविद्यालय से सामाजिक विज्ञान में स्नातक की डिग्रियाँ हासिल की थी। मातृभाषा मलयालम के अतिरिक्त, आप हिन्दी एवं अँग्रेज़ी के भी ज्ञाता हैं।

मान्ड्या में नियुक्ति

इन नियुक्तियों के अतिरिक्त सिरो-मलाबार कलीसिया की धर्माध्यक्षीय धर्मसभा ने मान्ड्या के लिये,  अब तक एरनाकुलम-अंगमाली के सहयोगी धर्माध्यक्ष रहे, मान्यवर सेबास्टियन अदयानारथ को धर्माध्यक्ष नियुक्त करने की घोषणा की है।  

धर्माध्यक्ष सेबास्टियन अदयानारथ का जन्म एरनाकुलम-अंगमाली महाधर्मप्रान्त के वायकॉम में 05 अप्रैल, 1957 ई. को हुआ था। एरनाकुलम एवं पुणे में ईशशास्त्र एवं दर्शन की पढ़ाई पूरी करने बाद 18 दिसम्बर, 1983 को आपका पुरोहिताभिषेक सम्पन्न हुआ था। पुरोहिताभिषेक के बाद आपने पल्ली पुरोहित, महाधर्माध्यक्ष के सचिव, महाधर्मप्रान्त की परिवार सिमिति के अध्यक्ष पदों पर कार्य किया है। साथ ही, परिवार प्रेरिताई के तहत ही, कनाडा एवं लन्दन में भी निर्देशक पद पर कार्यरत रहे हैं। 04 फरवरी 2002 को आप एरनाकुलम-अंगमाली के धर्माध्यक्ष नियुक्त किये गये थे।   

30 August 2019, 12:11