खोज

Vatican News
लौदातो सी परिवार लौदातो सी परिवार 

सालफोर्ड के धर्माध्यक्ष ने "लौदातो सी केंद्र" स्थापित किया

इंगलैंड के धर्माध्यक्ष जॉन अर्नोल्ड ने संत पापा फ्राँसिस के प्रेरितिक विश्व पत्र "लौदातो सी" के आह्वान का प्रत्युत्तर देते हुए अपने धर्मप्रांत में एक केंद्र स्थापित किया है, जिसका उद्देश्य है पर्यावरणीय स्थिरता को प्रोत्साहित करना।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

इंगलैंड, शनिवार, 24 अगस्त 2019 (रेई)˸ संत पापा फ्राँसिस ने साल 2015 में पर्यावरण पर अपने विश्व पत्र लौदातो सी को प्रकाशित किया था जो दुनिया के सभी लोगों के लिए हमारे आमघर की देखभाल हेतु तेज और एकीकृत वैश्विक कार्रवाई हेतु एक पुकार के समान है।

लौदातो सी केंद्र

संत पापा के प्रेरितिक विश्व पत्र के प्रकाशन के चार साल बाद इंगलैंड के सालफोर्ड धर्मप्रांत ने एक ठोस कदम उठाते हुए लौदातो सी केंद्र की स्थापना की है। यह हमारे आमघर की देखभाल के लिए व्यावहारिक कार्रवाई हेतु पर्यावरण और मानव पारिस्थितिकी पर संत पापा फ्रांसिस के विश्व पत्र की चुनौती का जवाब देने का प्रयास कर रहा है, जो भावी पीढ़ियों के लिए एक स्थायी दुनिया को छोड़ने में मदद करेगा।”

केंद्र का निर्माण वार्डली हॉल में किया गया है जिसमें वाटिका, सब्जी बगान तथा मधुमक्खी पालन की योजना बनायी गयी है और भविष्य में एक घास के मैदान एवं स्कूली बच्चों के लिए रिक्त स्थान की भी योजना बना रहे हैं।

धर्माध्यक्ष अरनोल्ड ने कहा, "मैंने सोचा कि यह हमारे लिए एक बहुत अच्छा अवसर होगा कि हर प्रकार के विचारों को एक साथ लाया जाए, शिक्षा के व्यवहारिक रूप तथा स्रोत को मिलाया जाए, जिससे हम शिक्षा ग्रहण करते हैं।"

उन्होंने कहा, "हमें निश्चित रूप से परियोजना में एक अच्छा सौदा मिला है; हम कई स्थानीय लोगों की विशेषज्ञता पर भी भरोसा कर रहे हैं, जो वास्तव में पर्यावरण को बहुत गंभीरता से ले रहे हैं और हमें कई विभिन्न परियोजनाओं को विकसित करने में मदद कर रहे हैं, ताकि शैक्षिक रूप से, हम धर्मप्रांत के लोगों के लिए एक बड़ा सौदा पेश कर सकें।”

धर्माध्यक्ष ने उम्मीद जताते हुए कहा कि "इस देश की कलीसिया के पास काफी सम्पति है और उससे लगी हुई जमीन भी काफी है, मैं सोचता हूँ कि हम पेड़ लगा कर निश्चय ही इसका बेहतर उपयोग कर सकते हैं। घर के नजदीक घरेलू सब्जी बगान में अपने खाने के लिए सब्जियाँ भी उगायी जा सकती हैं। मुझे आशा है कि लौदातो सी परियोजना सभी धर्मप्रांतों में फैलेगा।"  

धर्माध्यक्ष की अपील

इंगलैंड और वेल्स के काथलिक धर्माध्यक्षों ने हाल में, सृष्टि की देखभाल हेतु अपनी प्रतिबद्धता को नवीकृत किया था जिसमें उन्होंने एक विज्ञप्ति जारी कर पर्यावरण के प्रति ख्रीस्तीय आध्यात्मकता के विकास का आह्वान किया था, जिसकी शुरूआत व्यक्तिगत और पारिवारिक जीवन में होती है।  

कलीसिया एवं सृष्टि की देखभाल

आने वाले कुछ ही महीनों में कलीसिया दो महत्वपूर्ण कार्यक्रमों द्वारा सृष्टि की सुरक्षा पर प्रकाश डालेगी, उनमें पहला है- सृष्टि का मौसम जो एक वार्षिक प्रार्थना समारोह है तथा दूसरा 1 सितम्बर से 4 अक्टूबर तक अमाजोन पर सिनॉड।

आने वाले कार्यक्रमों पर आशा व्यक्त करते हुए धर्माध्यक्ष कहते हैं कि "हमें आशावान बनना तथा महान क्षमताओं को पहचानना है कि हम आमघर की देखभाल कर सकते हैं, हम दुनियाभर के अपने भाई बहनों से जुड़ सकते हैं। हम जिस ग्रह में रहते हैं उसकी रक्षा करना हम सभों की जिम्मेदारी है।

24 August 2019, 17:34