खोज

Vatican News
उत्तरी आयरलैंड का डेर्री शहर उत्तरी आयरलैंड का डेर्री शहर  (AFP or licensors)

उत्तरी आयरलैंड में भविष्य की आशा का निर्माण

उत्तरी आयरलैंड संघर्ष के 50 वर्षों बाद डेर्री के धर्माध्यक्ष डोनाल मैककेओन ने भविष्य के लिए आशा जगाने, ख्रीस्तीय एकतावर्धक वार्ता करने और ब्रेक्सित (ग्रेटब्रिटेन द्वारा यूरोपीय संघ से अलग होना) की चुनौतियों पर चिंतन किया है।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

आयरलैंड, शनिवार, 17 अगस्त 2019 (रेई)˸ उत्तरी आयरलैंड संघर्ष, जिसे 1968 से 1998 के संकट के रूप में जाना जाता है, जब गुड फ्राइडे समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे, जो शांति प्रक्रिया में एक मील का पत्थर बन गया था।

30 साल के सांप्रदायिक संघर्ष में लगभग 3,600 लोग मारे गए थे और 30,000 से अधिक घायल हुए थे। इस सप्ताह उन दंगों की 50वीं वर्षगांठ है जिसने ब्रिटिश सैनिकों को डेरी की सड़कों पर लाया गया।

डेर्री धर्मप्रांत में 51 पल्लियाँ हैं तथा इसमें डेर्री, तेरोन, डोनेगाल और अंत्रिम जिले आते हैं।

परिपक्व दृष्टिकोण

इस वर्षगाँठ पर चिंतन करते हुए धर्माध्यक्ष डोनाल ने कहा है कि "कठिनाइयों की शुरूआत की सालगिरह मनाते हुए डेर्री काफी परिपक्व हो गयी है... उन्होंने कहा, "हमारे लिए अभी एक ऐसा महौल है जब हम पीछे मुड़कर देख सकते हैं, उससे सीख सकते हैं तथा यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि हम भविष्य के लिए आशा जगायें, खासकर हमारे युवाओं के लिए तथा हम उन घटनाओं के गुलाम न बने रहे जो अर्धशताब्दी पहले हुआ था।"  

ख्रीस्तीय एकतावर्धक सहयोग

धर्माध्यक्ष मैककेओन ने रेखांकित किया कि इन 50 वर्षों में वार्ता विशेष रूप से महत्वपूर्ण रहा है जिसमें आयरलैंड की सभी चार कलीसियाओं ने 35 से 40 वर्षों तक सेतु के निर्माण हेतु मिल कर काम किया।

उन्होंने कहा कि उत्तरी आयरलैंड में काथलिक, प्रेस्बितेरियन, मेथोडिस्ट और अंगलिकन कलीसियाएँ बोलना चाहती हैं कि यह सुनिश्चित किया जाए कि युवाओं को अतीत की विनाशकारी बातें न बतलायीं जाएँ।

ख्रीस्तीय एकतावर्धक वार्ता के सहयोग का एक उदाहरण है इस वर्ष अप्रैल में पवित्र गुरुवार को पत्रकार लायरा मैककी की हत्या का परिणाम। इस दुःखद घटना की व्यापक निंदा की गयी थी और आयरलैंड की कलीसिया द्वारा पुण्य शुक्रवार को पवित्र क्रूस के साथ शहर में प्रदर्शन किये गये थे। उसके बाद विभिन्न कलीसियाओं और राजनीतिक दलों के सदस्यों के साथ घटना स्थल की ओर गये थे। इस तरह यहाँ विभिन्न कलीसियाओं की एकता स्पष्ट दिखाई पड़ती थी।  

ब्रेक्सित

उत्तरी आयरलैंड की चुनौतियों पर प्रकाश डालते हुए धर्माध्यक्ष ने कहा, "मेरी विशेष चिंता है कि हमारे लोगों के लिए प्रेरितिक समस्याओं को किस तरह दूर किया जाए। मेरी चिंता बढ़ती तनाव, सीमा के भविष्य के बारे में सामुदायिक विघटन, बेरोजगारी, युवाओं के लिए आशा की कमी है।”

उन्होंने कहा, "हमने पुण्य शुक्रवार समझौता के द्वारा अर्थव्यवस्था का एकीकरण किया है, तथ्य यह है कि सीमा पूरी तरह से अदृश्य है, लोग महसूस कर सकते हैं कि वे सांस ले सकते हैं तथा दृढ़ता के साथ भविष्य की ओर देख सकते हैं जबकि सीमा इन सभी चीजों को डराती है, खासकर, कोई समझौता नहीं के संदर्भ में।  

जब 31 अक्टूबर नजदीक आ रहा है धर्माध्यक्ष मैककेओर इस बात पर जोर देते हैं कि जो लोग ब्रेक्सित का नेतृत्व कर रहे हैं उन्हें न केवल पूर्वी ससेक्स के लिए फायदे को ध्यान में रखना है बल्कि पश्चिमी डेरी की चुनौतियों को भी।

17 August 2019, 16:14