खोज

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर  (AFP or licensors)

हजारीबाग के ख्रीस्तीय बंडेल की तीर्थयात्रा पर

झारखंड के हजारीबाग से कुल 145 ख्रीस्तीय "मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना" के तहत 28 अगस्त को बंडेल की तीर्थयात्रा पर कोलकाता रवाना हुए। बोकारो के उपायुक्त मुकेश कुमार ने ट्रेन को हरी झंडी दिखाया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

हजारीबाग, शनिवार, 31 अगस्त 2019 (रेई)˸ पवित्र रोजरी का महागिरजाघर जिसे बंडेल गरिजाघर से जाना जाता है, इसकी स्थापना सन् 1599 में हुई है जो पूर्वी भारत में ख्रीस्तियों का एक सबसे पुराना गिरजाघर है।

माता मरियम का यह प्रसिद्ध तीर्थस्थल पश्चिम बंगाल स्थित हुगली जिला के बंडेल में स्थित हैं। यह हुगली नदी के तट पर पुर्तगालियों के बसने की भी याद दिलाती है तथा यह विभिन्न जाति और धर्म के हजारों श्रद्धालुओं को अपनी ओर आकर्षित करती है।    

"मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना" के बारे बतलाते हुए डी.सी. कुमार ने कहा, "सभी धर्मों के परिवार तथा समुदाय जो आर्थिक रूप से अक्षम हैं वे इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।"

उन्होंने कहा, "झारखंड पर्यटन विकास निगम प्रायोजित मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तत्वावधान में, यह तीर्थयात्रा ख्रीस्तियों के जीवन में एक नये चीज को प्रकट करेगा तथा यह कोलकाता शहर का दौरा करने का यह उत्तम अवसर होगा।"

झारखंड सरकार का दावा है कि 5,000 से अधिक लोग (हिन्दू, मुस्लिम और ख्रीस्तीय) इस योजना से लाभ उठा चुके हैं।

31 August 2019, 13:50