Cerca

Vatican News
दक्षिण सूडान की महिलायें दक्षिण सूडान की महिलायें  (AFP or licensors)

दक्षिण सूडान में स्वतंत्रता के आठ साल बाद भी मानववादी संकट

दक्षिण सूडान की आर्थिक और राजनीतिक स्थिति बहुत खराब है इटली की धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने अपने फंड से एक मिलियन यूरो सहायता राशि प्रदान की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

रोम, बुधवार 10 जुलाई, 2019 (वाटिकन न्यूज) : दक्षिण सूडान को आठ साल पहले 9 जुलाई 2011 को स्वतंत्र देश घोषित किया गया परंतु अभी भी सबसे खराब मानवीय संकटों का सामना कर रहा है। 7 मिलियन लोगों के पास भोजन की कमी है और कुछ क्षेत्रों में गंभीर अकाल का खतरा है। 1.9 मिलियन विस्थापित लोग हैं, 2.3 मिलियन शरणार्थी पड़ोसी देशों में भाग गए। कुछ क्षेत्रों में अनियमित मौसम और सूखे की वजह से स्थिति और भी बदतर हो गई है। शांति समझौते के बावजूद, दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र के शांति मिशन के हाल के रिपोर्ट के अनुसार, कुछ क्षेत्रों में मिलिशिया और सरकारी बलों द्वारा नागरिकों के खिलाफ हिंसा बंद नहीं हुई है। सितंबर 2018 में समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाने के बाद से आज तक 100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और 56 हजार लोग अपने गांव छोड़कर अन्य देश या युगांडा में भाग गए हैं। कुल मिलाकर, 2013 के बाद से कम से कम 380,000 लोग युद्ध के शिकार हुए हैं। एक ऐसा युद्ध जिसने एक ऐसे देश को गंभीर क्षति पहुंचाई है। प्राकृतिक संपदा के बावजूद यह देश दुनिया के सबसे गरीब देशों में गिना जा रहा है।

संत पापा का प्रयास

 संत पापा फ्राँसिस ने अप्रैल 2019 में दोनों देशों के राजनीतिक नेताओं के साथ हुई बैठक के अवसर पर नेताओं से अपील करते हुए कहा, "राजनीतिक विभाजन और जातीय समूह से उपर उठने के लिए  एक साहसी प्रतिबद्धता की आवश्यकता है ताकि "युद्ध की आग एक बार और हमेशा के लिए बाहर निकल जाए,"  हम "राष्ट्र का निर्माण करना" शुरू करें।

इटली की कारितास

स्वतंत्रता की वर्षगांठ पर, इटली की कारितास भी संत पापा फ्राँसिस और दक्षिण सूडान के धर्माध्यक्षों द्वारा युद्ध समाप्त करने की अपील में शामिल होती है। इटली की कारितास पीड़ा से घिरी आबादी के अभिन्न मानव विकास के लिए दशकों से काम करती आ रही है। इसी समय, इटली की कारितास, अंतरराष्ट्रीय कारितास नेटवर्क और अन्य संगठनों के साथ मिलकर, स्थानीय कलीसियाओं के साथ अपनी प्रतिबद्धता को जारी रखा है, जो शांति के प्रचार के लिए और मानवीय विकास के लिए लगातार काम कर रही है। 2018 में, 80,000 से अधिक लोगों को भोजन, आर्थिक सब्सिडी, अस्थायी आवास, बुनियादी आवश्यकताओं के वितरण, उत्पादक गतिविधियों को बहाल करने और स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करने के साधन दक्षिण सूडान की कारितास को मिली। दक्षिण सूडानी शरणार्थियों और युगांडा में मेजबान समुदायों को भी लाभ हुआ।

दक्षिण सूडान में आय पैदा करने वाली गतिविधियाँ, संरचनाओं का पुनर्वास, पूरे देश में सुलह प्रक्रियाओं के लिए समर्थन हेतु इटली धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने इस वर्ष भी अपने फंड से 1 मिलियन यूरो के नए आवंटन को मंजूरी दी।

10 July 2019, 16:31