Cerca

Vatican News
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर  (©robyelo357 - stock.adobe.com)

हैती के धर्माध्यक्षों द्वारा प्रार्थना और आराधना वर्ष की घोषणा

हैती के धर्माध्यक्षों ने देश में चल रहे हिंसक विरोध प्रदर्शनों के मद्देनजर एक वर्ष प्रार्थना और आराधना के लिए सभी विश्वासियों का आह्वान किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

हैती, शनिवार 13 जुलाई 2019 (वाटिकन न्यूज) : हैती महीनों तक तनाव में रहा। भ्रष्टाचार के आरोपी सत्तारूढ़ राष्ट्रपति जुवानेल मोइज़ को पद छोड़ने के लिए कई बार हिंसक प्रदर्शन हुए हैं।

खराब स्थिति

9 और 25 जून के बीच के दो सप्ताह में लगभग हिंसक प्रदर्शन के दौरान 50 घायल लोगों को मार्टिस्सेंट स्वास्थ्य केंद्र में लया गया। इनमें से 9 गंभीर स्थिति में पहुंचे। 2019 के पहले तीन महीनों में लगभग 240 लोगों को गोली लगने के बाद लाया गया था। यह 2018 में आने वाली संख्या से दोगुनी है।

भविष्य के लिए एक वर्ष

हैती की कलीसिया ने देश के लिए प्रार्थना और आराधना की पहल की है, जो कि पेंतेंकोस्त 2020 तक चलेगा।

हैती धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने एक विज्ञप्ति जारी की, जिसमें उन्होंने इस पहल की वजह बताया है। "इस वर्ष के प्रार्थना का संदर्भ" हैती के लोगों की वर्तमान स्थिति है। देश की सुरक्षा इतनी अस्थिर है और दुःख इतना गहरा हो गया है कि आशा का पेड़ जमीन से ही धराशायी हो गया है।"

आशा की कमी "लोगों में हमेशा एक पूर्ण बुराई मानी गई है,” इसके साथ-साथ, "हर क्षेत्र में विद्यमान भ्रष्टाचार देश के लिए बहुत ही बड़ा अवसाद है।”  

ईश्वर से निवेदन

धर्माध्यक्षों ने यह कहते हुए संदेश समाप्त किया कि "प्रत्येक हैती वासी व्यक्तिगत रूप से, हर प्रार्थना समूह, मिस्सा समारोह के दौरान, हमारे लोगों की नियति को ईश्वर तक पहुंचाने और हमारे देश को पुनर्स्थापित करने का प्रयास करेगा।"

13 July 2019, 14:58