Cerca

Vatican News
मौत की सजा मौत की सजा  

धर्माध्यक्षों द्वारा मौत की सजा को निरस्त करने का समर्थन

अमेरिका, वाशिंगटन राज्य के धर्माध्यक्षों ने एक बिल के पक्ष में गवाही दी हैं जो उस राज्य में मृत्युदंड को निरस्त करेगा।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाशिंगटन, शनिवार 9 फरवरी 2019( वेटिकन न्यूज) : वाशिंगटन के सिएटल के महाधर्माध्यक्ष जे. पीटर सार्टेन ने एक बयान में कहा, "हमारे देश की कानूनी प्रणाली मौत की सजा को लागू करने के लिए बिल्कुल सही है।" वाशिंगटन राज्य के सर्वोच्च न्यायालय ने फैसला सुनाया था कि मौत की सजा असंवैधानिक थी, क्योंकि "यह एक मनमाने और नस्लीय-पक्षपाती तरीके से लागू किया गया था।

महाधर्माध्यक्ष सार्तैन ने कहा, “सभी नागरिकों के अधिकार की पुष्टि करते हुए" उन लोगों को बचाना चाहिए जो हत्या का अपराध करते हैं।  हत्या के कृत्य की उचित सजा मिलनी चाहिए, लेकिन मृत्युदंड केवल हिंसा से हिंसा को जोड़ती हैं, एक मानव जीवन को दूसरे के लिए अंत करते हुए न्याय के तराजू को संतुलित करना एक भ्रम को उत्पन्न करता है।”

वाशिंगटन काथलिक कॉन्फ्रेंस के बयान में कहा गया है कि कलीसिया का विश्वास यह है कि प्रत्येक मानव जीवन गर्भाधान से लेकर प्राकृतिक मृत्यु" तक पवित्र है। इसी ने मौत की सजा को खत्म करने के दशकों से धर्माध्यक्षों के प्रयासों को सक्रिय किया है।

राज्य सीनेट में प्रस्तावित विधेयक वाशिंगटन में मौत की सजा की अनुमति देने वाले कानून को निरस्त कर देगा और पैरोल की संभावना के बिना आजीवन कारावास की सजा बढ़ सकती है।

अमेरिकी राज्य वाशिंगटन में तीन काथलिक धर्मप्रांत हैं:सिएटल महाधर्मप्रांत, जिसके महाधर्माध्यक्ष एबीप सार्तीन, दो सहायक धर्माध्यक्ष यूसेबियो एलाडोन्डो और डैनियल म्यूगेनबर्ग हैं। स्पोकेन धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष थॉमस डेली और याकिमा धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष जोसेफ टायसन हैं।

09 February 2019, 16:13