खोज

Vatican News
सीसीबीआई के नए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं महासचिव सीसीबीआई के नए अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं महासचिव 

सीसीबीआई के नए पदाधिकारियों का चुनाव एवं दो नये आयोग की रचना

भारतीय लैटिन-रीति के धर्माध्यक्षों की 31 वीं आमसभा के दौरान 12 जनवरी को नए पदाधिकारियों का चुनाव हुआ। उनका कार्यकाल 2 वर्षों का होता है। आमसभा दो नये आयोग की रचना की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

महाबलिपुरम, सोमवार 14 जनवरी 2019 (वाटिकन न्यूज) : भारतीय लैटिन-रीति के धर्माध्यक्षों की 31 वीं आमसभा तामिलनाडू राज्य के महाबलिपुरम में 7 जनवरी से 14 जनवरी तक आयोजित की गई। इसमें 132 लैटिन-रीति के धर्मप्रांतों से 143 धर्माध्यक्षों ने भाग लिया। 12 जनवरी को उन्होंने गोवा और दामन के महाधर्माध्यक्ष फिलिप नेरी फेर्राव को सीसीबीआई का नया अध्यक्ष चुना।

मद्रास और मायलापुर के महाधर्माध्यक्ष जोर्ज अंतोनीसामी उपाध्यक्ष चुने गये और दिल्ली के महाधर्माध्यक्ष अनिल कोट्टो भी महासचिव के रूप में फिर से चुने गये।

सीसीबीआई अध्यक्ष

65 वर्षीय महाधर्माध्यक्ष फेर्राव ने 2011 से 2017 तक उपाध्यक्ष के रुप में सीसीबाआई में अपनी सेवा दी। उन्होंने सीबीसीआई में भी उपाध्यक्ष के रुप में अपनी सेवा प्रदान की है। सीबीसीआई भारत के लैटिन रीति, सीरो-मालाबार रीति और सीरो-मलंकरा रीति के धर्माध्यक्षों का सम्मेलन है।

वर्तमान में महाध्रमाध्यक्ष फेर्राव एशिया के धर्माध्यक्षों के संघ द्वारा गठित विश्वास प्रशिक्षण एवं शिक्षा कार्यालय के अध्यक्ष हैं।

सीसीबीआई उपाध्यक्ष

66 वर्षीय महाधर्माध्यक्ष जोर्ज अंतोनीसामी ने अफ्रीका, एशिया और बाल्टिक राष्ट्रों में परमधर्मपीठ के राजनयिक मिशनों में विभिन्न जिम्मेदारियां निभाई हैं। उन्होंने 2005 से 2008 तक गिनी, गाम्बिया, लीबेरिया और सिएरा लियोन में प्रेरितिक राजदूत के रूप में कार्य किया। वे जॉर्डन के प्रेरितिक मंत्रालय में विदेश मामलों के प्रभारी थे। 2012 में वे चेन्नई-मायलापुर महाधर्मप्रांत के 6 वें महाधर्माध्यक्ष नियुक्त हुए।

सीसीबीआई महासचिव

महाधर्माध्यक्ष अनिल कुट्टो 2000 में दिल्ली के सहायक धर्माध्यक्ष नियुक्त किये गये थे और 2007 में उन्हें जुलुंड के धर्माध्यक्ष के रूप में स्थानांतरित किया गया था। 2012 में दिल्ली के महाधर्माध्यक्ष नियुक्त हुए।

सीसीबीआई आमसभा "सुसमाचार का आनंद" विषय पर विचार-विमर्श कर रही है ताकि पल्ली और धर्मप्रांतीय स्तर पर कलीसिया के प्रेम और करुणा की प्रेरिताई को पुनर्जीवित करने के लिए एक विस्तृत कार्य योजना बनाई जा सके।

दो नये आयोग की स्थापना

आमसभा में पारिस्थितिकी के लिए और लधु ख्रीस्तीय समुदायों (एससीसी) के लिए नए आयोगों की स्थापना के पक्ष में मतदान किया।

परिस्थितिकी आयोग

पारिस्थितिकी के लिए एक आयोग शुरू करने का धर्माध्यक्षों का निर्णय 2015 में प्रकाशित संत पापा फ्राँसिस के विश्व पत्र "लाउदातो सी" की अपील का जवाब है, जिसमें संत पापा सभी लोगों से हमारे ब्रह्मांड की देखभाल करने की इच्छा रखते हैं।

मुम्बई महाधर्मप्रांत के सहायक धर्माध्यक्ष अलविन डीसिवा परिस्थितिकी आयोग के अध्यक्ष नियुक्त हुए।

लघु ख्रीस्तीय समुदाय

लघु ख्रीस्तीय समुदायों के लिए नया आयोग जमीनी स्तर पर सुसमाचार के मूल्यों को बढ़ावा देने और सभी स्थानीय लोगों को उनके सामान्य जीवन में कलीसिया के करुणामय प्रेरिताई का साक्ष्य देने हेतु तैयार करने के लिए है।

शिमला-चंडीगढ़ के धर्माध्यक्ष इग्नासियुस मस्करेनहस, लघु ख्रीस्तीय समुदाय आयोग के अध्यक्ष हैं।

अन्य सीसीबीआई आयोगों के अध्यक्ष इस प्रकार हैं:

* कम्मीशन फोर बाउन्डरीस  -  गोवा और दामन के महाअध्यक्ष फिलिप नेरी फेर्राव

* बाइबिल के लिए आयोग - सुल्तानपेट के धर्माध्यक्ष अंतोनसामी पीटर अबीर

* धर्मशिक्षा के लिए आयोग - गांधीनगर के महाधर्माध्यक्ष थॉमस मैकवान

* कैनन लॉ और अन्य विधान ग्रंथों के लिए आयोग - करवार के धर्माध्यक्ष डेरेक फर्नांडीस

* ख्रीस्तीय एकता के लिए आयोग - शिमोगा के धर्माध्यक्ष फ्रांसिस सेरावो एस.जे.

* परिवार के लिए आयोग - पटना के महाधर्माध्यक्ष सेबेस्टियन कल्लूपुरा

* लोकधर्मियों के लिए आयोग - वाराणसी के धर्माध्यक्ष यूजीन जोसेफ

* पूजन पद्धति के लिए आयोग - शिलोंग के महाधर्माध्यक्ष डोमिनिक जाला एसडीबी

* प्रवासियों के लिए आयोग - रायपुर के महाधर्माध्यक्ष विक्टर हेनरी ठाकुर

* उद्घोषणा आयोग - इलाहाबाद के धर्माध्यक्ष रापी मंजली

* धर्मशास्त्र और सिद्धांत आयोग - रांची के महाधर्माध्यक्ष फेलिक्स टोप्पो एस.जे.

* धर्मबुलाहट के लिएआयोग  - वारंगल के धर्माध्यक्ष उडुमाला बाला

* महिलाओं के लिए आयोग - मेरठ के धर्माध्यक्ष फ्रांसिस कलिस्ट

* युवाओं के लिए आयोग - कोट्टार के धर्माध्यक्ष नाज़रीन सोसाई

सीसीबाआई एशिया में पहला और दुनिया में चौथा, सबसे बड़ा धर्माध्यक्षीय सम्मेलन है। इसमें 132 धर्मप्रांत हैं और 189 धर्माध्यक्ष हैं।

14 January 2019, 15:48