Cerca

Vatican News
तुतीकोरिन के नवनियुक्त धर्माध्यक्ष स्तेफन अंतोनी पिल्लाई तुतीकोरिन के नवनियुक्त धर्माध्यक्ष स्तेफन अंतोनी पिल्लाई  

तुतिकोरिन धर्मप्रांत में नये धर्माध्यक्ष की नियुक्ति

संत पापा फ्राँसिस ने भारत के तुतीकोरिन धर्मप्रांत के प्रेरितिक प्रशासक मोनिन्योर यूओन अम्ब्रोइसे का इस्तीफा स्वीकार करते हुए, माननीय फा. स्तेफन अंतोनी पिल्लाई को वहाँ का नया धर्माध्यक्ष नियुक्त किया। वे इस समय धर्मप्रांत के आध्यात्मिक साधना केंद्र के निदेशक एवं तिरूचिरापल्ली में संत पौल समिनरी के प्राध्यापक भी हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

नवनियुक्त धर्माध्यक्ष स्तेफन अंतोनी पिल्लाई का जन्म 22 जून 1952 को कोट्टार धर्मप्रांत में हुआ था। उन्होंने रोम स्थित परमधर्मपीठीय उर्बनियन विश्व विद्यालय से ईशशास्त्र में पीएचडी की डिग्री हासिल की है।

7 मई 1979 को वेल्लोर धर्मप्रांत के लिए पुरोहिताभिषेक के बाद उन्होंने निम्नलिखित क्षेत्रों में कार्य किया-

1979-1980: चेटपेट स्थित लूर्द की माता मरियम के तीर्थस्थल के पल्ली विकर।

1980-1981: पोलुर में पवित्र हृदय गिरजाघर के पल्ली विकर।

1981-1983: संत पेत्रुस परमधर्मपीठीय सेमिनरी बैंगलोर में स्नातकोत्तर की पढ़ाई।

1986-1989: रोम में ईशशास्त्र में डॉक्टरेट की पढ़ाई।

1990-1996: फ्राँस के ग्वादालुपे में मिशनरी।

1996-1999: वेल्लोर के काथलिक प्रेरितिक केंद्र के निदेशक।

1999-2001: तिरूचिरापल्ली के संत पौल सेमिनरी के प्रोफेसर।

2001-2002: वेल्लोर महागिरजाघर के पल्ली पुरोहित।

2002-2005: महागिरजाघर के विकर जेनेरल एवं पल्ली पुरोहित।

2006-2010: तिरूचिरा पल्ली स्थित संत पौल सेमिनरी के उप-अध्यक्ष।

2010-2016: चेटपेट में लूर्द की माता मरियम तीर्थस्थल के पल्ली पुरोहित, वेल्लोर धर्मप्रांत के धर्माध्यक्षीय समिति के सदस्य।

2016-2017: चेन्नाई के डॉन बोस्को मेजर सेमिनरी एवं मैसूर के पलोटाईन मेजर सेमिनरी में बाहरी व्याख्याता।

2017    धर्मप्रांत के आध्यात्मिक साधना केंद्र के निदेशक एवं तिरूचिरापल्ली के संत पौल सेमिनरी में बाह्य व्याख्याता।

17 January 2019, 16:07