खोज

Vatican News
रोम स्थित त्रासतेवेरे संत मरिया गिरजाघर में भोज हेतु एकत्रित लोग रोम स्थित त्रासतेवेरे संत मरिया गिरजाघर में भोज हेतु एकत्रित लोग 

संत इजीदियो समुदाय द्वारा गरीबों के लिए क्रिसमस बड़ा खाना

संत इजीदियो समुदाय ने इटली में 60 हजार और विश्व के 77 देशों में 240 हजार गरीब, बेघर, बुजुर्गों और शरणार्थियों के लिए क्रिसमस भोज की व्यवस्था की थी।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

रोम, बुधवार 26 दिसम्बर 2018 (रेई) : इटली के एक सौ शहरों में बेघर, बुजुर्ग और शरणार्थियों के लिए संत इजीदियो समुदाय और स्वयंसेवकों ने क्रिसमस के दिन भोज का प्रबंध किया था।  "आशा का एक संदेश जो हर बंद रास्ते को खत्म कर देता है और कई लोगों का भविष्य वापस लाता है।” रोम स्थित त्रासतेवेरे संत मरिया गिरजाघर में भोज हेतु एकत्रित लोगों के बीच इटली के प्रेरितिक राजदूत ने संत पापा फ्राँसिस का संदेश और अभिवादन लाया।

संत इजीदियो समुदाय

संत इजीदियो समुदाय ने 1982 में रोम स्थित त्रासतेवेरे संत मरिया गिरजाघर में अपने घरों में अकेले पड़े कुछ बुजुर्गों और परित्यकतों के लिए क्रिसमस के भोज की प्रथा शुरु की। तभी से हर वर्ष खाने के मेज पर गरीब, गली के अनाथ बच्चे, बुजुर्ग और अन्य देशों से आये शरणार्थी शरीक होते हैं।

संत इजीदियो समुदाय की पचासवीं वर्षगांठ के अवसर पर रोम, नेपल्स, जेनोआ, मेसिना, मिलान, बारी, फ्लोरेंस, ट्यूरिन, नोवारा, पादुआ, कतानिया, पलेरमो, त्रिएस्ते, रेज्जो कलाब्रिया सहित इटली के सौ बड़े-छोटे शहर शामिल थे। इजीदियो समुदाय के अध्यक्ष मार्को इम्पाग्लियाज़ो ने टिप्पणी की, "यह एक ऐसा बड़ा समुदाय है जिसमें मदद करने वाले लोगों और मदद पाने वाले लोगों के बीच भ्रम पैदा हो जाती है। यह एक बड़ा परिवार है जिसमें सभी के लिए जगह है।

एकजुटता की वृद्धि महत्वपूर्ण

रोम स्थित त्रासतेवेरे संत मरिया गिरजाघर में स्वेच्छा से मदद करने वाले स्वयंसेवक, न केवल दोपहर का भोजन तैयार करने और मेज पर अपनी सेवा देते हैं, बल्कि उन गरीबों को भी जानते हैं जो पूरे वर्ष इजीदियो समुदाय के संपर्क में रहते हैं। उनके लिए व्यक्तिगत रुप से उपहार दिया जाता है। त्रासतेवेरे के संत मरिया गिरजाघर में आयोजित भोज में पल्ली पुरोहित डॉन मार्को ग्नवी के साथ इटली में वाटिकन के प्रेरितिक राजदूत, मोन्सिन्योर एमिल पॉल शेर्रिंग भी उपस्थित थे। उन्होंने कहा,“मैं आपके लिए संत पापा फ्राँसिस का आशीर्वाद लाया हूँ। संत पापा आध्यात्मिक रूप से आपके साथ यहां हैं। इस क्रिसमस ने हमें याद दिलाया कि हमारा एक ही पिता है, इसलिए हम सभी मिलकर शांति के वर्ष की शुरुआत करें।”

26 December 2018, 16:09