Cerca

Vatican News
बंगलादेश के शरणार्थी शिविरों का दौरा करते कार्डिनल ताग्ले बंगलादेश के शरणार्थी शिविरों का दौरा करते कार्डिनल ताग्ले 

कार्डिनल ताग्ले ने रोहिंग्या शरणार्थी शिविर का दौरा किया

काथलिक कलीसिया के उदार संगठन अंतरराष्ट्रीय करितास के अध्यक्ष कार्डिनल लुईस अंतोनियो ताग्ले ने बंगलादेश में शरणार्थी शिविरों का दौरा किया जहाँ म्यनमार के रोहिंग्या मुसलमान शरण लिए हुए हैं। उन्होंने करितास बंगलादेश के कार्यों की सराहना की।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 6 दिसम्बर 2018 (वाटिकन न्यूज)˸ अंतरराष्ट्रीय करितास के अध्यक्ष कार्डिनल लुईस अंतोनियो ताग्ले ने म्यनमार से विस्थापित बंगलादेश के शरणार्थी शिविरों में रह रहे रोहिग्या मुसलमानों के लिए, अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपील की कि वे उनकी मदद जारी रखें। कार्डिनल बंगलदेश में 3 दिसम्बर से दो दिवसीय यात्रा पर थे तथा वहाँ उन्होंने शरणार्थियों के परिवारों, शिविर में मदद कार्यों, करितास कर्मचारों एवं दक्षिणी बंगलादेश के कॉक्स बाजार में सरकारी अधिकारियों से मुलाकात की।

राज्य में करीब एक मिलियन से अधिक रोहिंग्या मुस्लिम शरणार्थी रह रहे हैं जिनमें से अधिकांश लोग 2016 एवं 2017 में म्यनमार के रखाइन प्रांत में हुए हिंसक प्रताड़ना के कारण भागकर आये हैं।

कार्डिनल ने जिला के 30 शिविरों में से सबसे बड़े शरणार्थी शिविर कुटूपालोंग में कई परिवारों एवं बच्चों से मुलाकातें कीं। उन्होंने सहायता वितरण बिंदुओं तथा करितास द्वारा निर्मित आवास का दौरा किया।

उन्होंने राहत कार्मियों एवं स्वयंसेवकों से भी मुलाकात की जिनमें संयुक्त राष्ट्र एजेंसी (यूएनएचसीआर) के सदस्य भी उपस्थित थे। उन्होंने शरणार्थी एवं राहत कार्यों की देखरेख करने वाले सरकारी आयोग और प्रत्यावर्तन कमीशन के प्रमुख मुहम्मद अबुल कालाम से भी बातें की।

आनन्द एवं दुःख

इस दौरे में कार्डिनल ने खुशी और दुःख दोनों का अनुभव किया। उन्होंने लाखों लोगों के विस्थापन की घटना देखी थी और उनका हृदय दुःख से भय गया था। अब स्वयं उस शिविर में आकर उन्हें खुशी हुई कि उनपर ध्यान दिया जा रहा है, खासकर, उनकी मानव प्रतिष्ठा पर जिसके वे पूर्ण हकदार हैं। किन्तु साथ ही उन्होंने यह सोच कर दुःख हुआ कि उनकी यह स्थित उनके जीवन भर न बनी रहे।  

उन्होंने कहा, "मैं कल्पना नहीं कर सकता कि माता-पिता अपने बच्चों को क्या उत्तर देंगे जब बच्चे उनसे अपने भविष्य के बारे पूछेंगे। यदि मेरा कोई बच्चा यहाँ होता तो मैं उसे उत्तर नहीं दे पाता।"  

शिविर में रह रहे युवा दम्पति जाहिद होस्साईन एवं रेहेना ने कार्डिनल ताग्ले को अपना दुःख बांटा तथा म्यनमार में एक नागरिक के रूप में वापस लौटने हेतु मदद की अर्जी की।

करितास बंगलादेश

कुटूपालोंग शिविर की स्थापना करितास द्वारा रोहिंग्या शरणार्थियों के आगमन पर 2017 में की गयी थी।

शिविर में शरणार्थियों की मदद हेतु अब तक कुल 750 मिलियन टाका खर्च किये जा चुके हैं जो विश्वभर के करितास सदस्यों के अनुदान से जमा किये गये थे। यूएनएचसीआर द्वारा भी शिविर को 8 मिलियन टाका प्रदान किया गया है।   

कित्तागोंग करितास के क्षेत्रीय अध्यक्ष जेम्स गोम्स ने कहा कि करितास के संयुक्त प्रतिक्रिया कार्यक्रम ने रोहिंग्या के लिए व्यापक समर्थन पर ध्यान केंद्रित किया है।

करीब 40,000 परिवारों या 240,000 शरणार्थियों को करितास द्वारा खाद्य सामग्री प्रदान की गयी है जबकि 10,000 परिवारों को अन्य आवश्यक सामग्री प्रदान की गयी एवं 1,000 शरणस्थल का निर्माण किया गया।

करितास ने 20,000 परिवारों के लिए गैस सिलेंडर तथा चुल्हा प्रदान किया है ताकि जलावन की लकड़ी के लिए पेड़ों को काटने से रोका जा सके।

कार्डिनल ताग्ले ने करितास बंगलादेश की सराहना करते हुए कहा, "यह वास्तव में बताता है कि करितास क्या है।" उन्होंने कहा कि बहुत छोटी होने पर भी बंगला देश की कलीसिया का उदार संगठन करितास अन्य करितास संगठनों के सहयोग से अपना मिशन जारी रखा है। "यह मुझे सचमुच उम्मीद प्रदान करता है कि एक साथ हम परिवर्तन ला सकते हैं।"

06 December 2018, 15:33