Cerca

Vatican News
अरुणाचल प्रदेश नियोटान का नया गिरजाघर अरुणाचल प्रदेश नियोटान का नया गिरजाघर 

अरुणाचल प्रदेश के दूरस्थ गांव में रीजन का सबसे बड़ा गिरजाघर

नियोटान गाँववासियों को एक नया पवित्र हृदय गिरजाघर 5 दिसम्बर को मिला। इसी दिन 19 साल पहले उन्होंने ख्रीस्त को स्वीकारा था।

नियोटान, शनिवार 8 दिसम्बर 2018 (रेडियो न्यूज): पूर्वोत्तर भारतीय राज्य अरुणाचल प्रदेश के सुदूर गांवों में से एक नियोटन ने बुधवार को राज्य के सबसे बड़े गिरजाघर के उद्घाटन में भाग लिया।

चांगलंग जिले के नियोटन के छोटे मोसांग आदिवासी समुदाय ने नव निर्मित पवित्र हृदय गिरजाघर की आशीष समारोह उसी दिन मनाया जब उन्होंने पहली बार 19 साल पहले काथलिक विश्वास को स्वीकार किया था।

5 दिसंबर के पवित्र यूखारिस्तीय समारोह के मुख्य अनुष्ठाता भारतीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के महासचिव धर्माध्यक्ष थेओदोर मस्करेनहास थे। उनके साथ डिब्रूगढ़ के धर्माध्यक्ष जोसेफ आइन्द, मियाओ धर्मप्रांत के स्थानीय धर्माध्यक्ष जॉर्ज पल्लीपपरंबिल, मियाओ के सहायक धर्माध्यक्ष डेनिस पनिपिचैई, डिब्रूगढ़ के नव नियुक्त सहायक धर्माध्यक्ष अल्बर्ट हेमरोम और जिले के करीब 2000 ख्रीस्तियों ने समारोह में भाग लिया।

धर्माध्यक्ष मस्करेनहास ने कहा कि येसु मसीह के संदेशः शांति, प्रेम, क्षमा की आज दुनिया में सबसे ज्यादा आवश्यकता है। आज "घृणा, भेदभाव और केंद्रीकरण के संदर्भ में, सुसमाचार का संदेश टूटे हुए रिश्तों को सुधार सकता और टूटे हुए दिलों को जोड़ सकता है।"

गिरजाघर के उद्घाटन से पहले, धर्माध्यक्षों ने पर्यावरण के संरक्षण और प्रचार के महत्व पर बल देते हुए गिरजाघऱ के परिसर में पौधे लगाए।

धर्माध्यक्ष जोसेफ और धर्माध्यक्ष जॉर्ज ने 19 साल पहले नियोटान गांव में काथलिक विश्वास को लाया था। उन्होंने गाँववासियों को अपने नये गिरजाघर के लिए बधाई दी। अपने विश्वास को आगे बढ़ाने के लिए उनकी कठिन परिस्थितियों को याद किया साथ ही उनके सभी बलिदानों के लिए उनकी सराहना की।

स्थानीय प्रचारक श्री चोमजंग मोसांग ने पूरे गांव की भावनाओं को प्रतिबिंबित करते हुए कहा, "ऐसा लगता है कि हमारा सपना सच हो गया है।" इस नये गिरजाघर में 2000 विश्वासी समा सकते हैं। इसे बनाने में करीब दो साल लग गये और ज्यादातर लोगों के बलिदान और स्थानीय लोगों की उदारता एवं आर्थिक मदद के कारण निर्माण कार्य संभव हो पाया।

डिब्रूगढ़ के नव-नियुक्त धर्माध्यक्ष अल्बर्ट हेमरोम ने आशीर्वाद समारोह के समापन पर आयोजित लघु सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान स्थानीय भाषा में एक गीत पुस्तिका और मिस्सा प्रार्थना पुस्तिका का विमोचन किया।

08 December 2018, 13:58