बेटा संस्करण

Cerca

Vatican News
डबलिन में तैयारी करते हुए स्वंयसेवक डबलिन में तैयारी करते हुए स्वंयसेवक 

डब्लूएमओफःपरिवार का सुसमाचार, दुनिया के लिए आनंद

संत पापा फ्राँसिस 25 अगस्त को आयरलैड पहुँच रहे हैं वहाँ परिवारों की विश्व सभा में भाग लेगें। इस सभा की विषय ‘परिवार का सुसमाचार, दुनिया के लिए आनंद’ है जिसे स्वंय संत पापा ने चयन किया है।

माग्रेट सुनीता मिंज - वाटिकन सिटी 

डबलिन, सोमवार 20 अगस्त 2018 (रेई) : परिवारों की 9वीं विश्व सभा (डब्लूएमओफ़) डबलिन में 21 अगस्त मंगलवार की शाम संध्या प्रार्थना के साथ शुरु की जाएगी। प्रार्थना में प्रतिभागी येसु ख्रीस्त अखंड ज्योति को सभा में स्वागत करेंगे। संगीत और भजनों द्वारा पूरे मानव परिवार के लिए प्रार्थनाएं चढ़ायी जाएंगी। आयरलैंड के अन्य सभी धर्मप्रांतों में एक समान उद्घाटन समारोह होगा। इसी के साथ परिवारों की 9वीं विश्व सभा का आरंभ होगा और 26 अगस्त को संत पापा की अगुवाई में पवित्र ख्रीस्तयाग के साथ समाप्त होगी।

डब्लूएमओफ़ प्रेरितिक महासम्मेलन

तीन दिवसीय प्रेरितिक महासम्मेलन का आयोजन रोयल डबलिन सोसाइटी में होगा। इन तीन दिनों में संत पापा द्वारा चयन किये गये विषय ‘परिवार का सुसमाचार, दुनिया के लिए आनंद’ के हर पहलू पर गहराई से विचार विमर्श किया जाएगा। इस विश्व बैठक में कार्यशाला, चर्चा और धर्मशिक्षा, प्रार्थना और अनेक मजेदार गतिविधियाँ हैं जिसमें प्रतिभागी व्यक्तिगत और पूरे परिवार के संग भाग ले सकते हैं। बच्चों और किशोरों के लिए भी उनके अनुरूप मजेदार कार्यक्रम उपलब्ध किये जायेंगे।

प्रेरितिक महासम्मेलन के 3 दिन की विषयवस्तु इस प्रकार है : बुधवार को परिवार और विश्वास, गुरुवार को परिवार और प्यार तथा शुक्रवार को परिवार और आशा। वक्ताओं और पैनलिस्ट आयरलैंड से और अन्य देशों से आमंत्रित किये गये हैं जो विश्वास और परिवार के साथ-साथ मानव तस्करी, सोशल मीडिया और याजकों द्वारा यौन उत्पीड़न संकट जैसे वर्तमान मुद्दों पर चर्चा करेंगे।

महिला नेतृत्व संगोष्ठी

पहली बार, डब्लूएमओएफ के लिए एक महिला नेतृत्व संगोष्ठी का आयोजन किया गया है। आयरिश मीडिया की जानी-मानी महिला नोरा केसी और यूएस बिजनेस एग्जिक्यूटिव, सुसान एन डेविस इस सम्मेलन की सह-अध्यक्षता करेंगे। संयुक्त राष्ट्र मेजर जनरल क्रिस्टिन लुंड मुख्य भूमिका निभाएंगी और शांति-व्यवस्था, उद्यमिता, शिक्षा, हिंसा, शरणार्थियों और बेघर आदि विषयों पर भाषण देंगी।

डब्ल्यूएमओफ़ का आइकन

डब्ल्यूएमओफ़ का त्रिभुज आइकन बंद होने पर घर का आकार बनाता है। गाब्रियल और माइकेल महादूत दरवाजे के बाहर हैं। आइकन के दोनों पल्लों को खोलने पर पवित्र परिवार भोजन कर रहे हैं। बायें पल्ले में येसु जैरुस की बेटी को चंगा करते हैं और दांये पल्ले में काना के विवाह भोज की प्रतिमा है। 21 अगस्त, 2017 को  इस आइकन पर विशेष रुप से आशीष दी गई। इस आइकन ने आयरलैंड के प्रत्येक धर्मप्रांत में यात्रा पूरी की और आयरिश परिवारों ने विशेष भक्ति के साथ प्रार्थना करते हुए लिखित निवेदन प्रार्थनाएं अर्पित की। निवेदन प्रार्थना पेटिका भी आइकन के साथ यात्रा कर रही है।   

डब्लूएमओएफ का इतिहास

संत पापा जॉन पॉल द्वितीय ने 1994 में डब्लूएमओएफ की शुरुआत की, तब उन्होंने तत्कालीन परिवार के लिए परमधर्मपीठीय सम्मेलन को एक अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम स्थापित करने को कहा था। उनकी इच्छा थी कि दुनिया भर के परिवार, कलीसिया और समाज में अपनी विशेष बुलाहट के साक्ष्य को मजबूत करने के लिए प्रार्थना, धर्मशिक्षा और उत्सव में शामिल हों। संत पापा जॉन पॉल द्वितीय ने डब्लूएमओफ़ में चार बार भाग लिया। पहला-रोम में (1994), दूसरा-रियो दी जेनेरो में (1997), तीसरा- रोम में (2000) और चौथा-मनिला (2003) में। उनके उत्तराधिकारी, संत पापा बेनेदिक्त 16वें ने तीन बार-वालेंसिया (2006),  मेक्सिको सिटी (2009) और मिलान (2012) में भाग लिया। संत पापा फ्रांसिस का पहला डब्लूएमओफ़ अनुभव 2015 में फिलाडेल्फिया में हुआ था।

20 August 2018, 16:15