Cerca

Vatican News
एएमइसीइए की 19वीं आमसभा एएमइसीइए की 19वीं आमसभा  

एएमइसीइए की 19वीं आमसभा के समापन पर नये अध्यक्ष का संदेश

इथियोपिया के अदीस अबाबा में चल रहे आमसभा के दौरान, धर्माध्यक्षों ने प्रवासन और शरणार्थियों की समस्यायें, जलवायु परिवर्तन, अशांति और बढ़ती असुरक्षा की तात्कालिक चुनौतियां और अफ्रीका के भ्रमित युवा लोगों को आशावान बनाने की चुनौतियों पर विचार किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

अदीस अबाबा,सोमवार 23 जुलाई 2018 (रेई) : इथियोपिया के अदीस अबाबा में 13 से 23 जुलाई तक नौ अफ्रीकी देशों (एरिट्रिया, इथियोपिया, केन्या, मलावी, सूडान, दक्षिण सूडान, तंजानिया, युगांडा और जाम्बिया) के 200 काथलिक धर्माध्यक्षों ने पूर्वी अफ्रीका (एएमईसीईए) धर्माध्यक्षीय सम्मेलन की 19वीं आमसभा में भाग लिया। आमसभा की विषय वस्तु थी,“एएमईसीईए क्षेत्र में ईश्वर में जीवंन्त विविधता, समान विनम्रता और शांतिपूर्ण एकता”

संवाददाता  के साथ साक्षात्कार

सप्ताह भर चल रहे आमसभा के दौरान, धर्माध्यक्षों ने ज्यादातर अफ्रीकी समाजों में स्पष्ट विरोधाभास पर विचार विमर्श किया जो खुद को ख्रीस्तीय होने का दावा करते थे। एक ओर तो अफ्रीकी महाद्वीप को स्थानीय जातीय संघर्षों ने तबाह कर दिया गया है, फिर भी अधिकांश अफ्रीकी देशों में रविवारीय यूखारिस्तीय समारोह में उनकी उपस्थिति बहुत ज्यादा है।

तात्कालिक चुनौतियां

अदीस अबाबा के धन्य कुवांरी मरियम के महागिरजाघर में एएमइसीइए की 19वीं आमसभा के समापन पर समारोही ख्रीस्तयाग के दौरान नये अध्यक्ष धर्माध्यक्ष चार्ल्स कासोंडे ने अफ्रीका के कुछ ज्वलंत मुद्दों के समाधान की तलाश में काम करने के लिए एएमइसीइए धर्माध्यक्षों के दृढ़ संकल्प को इज़हार किया। इनमें से कुछ मुद्दे प्रवासन और शरणार्थियों की समस्यायें, जलवायु परिवर्तन, अशांति और बढ़ती असुरक्षा की तात्कालिक चुनौतियां और अफ्रीका के भ्रमित युवा लोगों को आशावान बनाने की चुनौतियां आदि शामिल हैं।

धर्माध्यक्ष चार्ल्स कासोंडे ने कहा कि धर्माध्यक्ष अपने धर्मप्रांत लौटकर इन मुद्दों पर कार्य करने के लिए समितियों और कार्यकारी समूहों का गठन करेंगे।

23 July 2018, 15:42