Vatican News
बघौज से कैंप जाते हुए बच्चे और अपाहिज लोग बघौज से कैंप जाते हुए बच्चे और अपाहिज लोग  (AFP or licensors)

सीरिया युद्ध के नवे वर्ष में प्रवेश किया,यूनिसेफ रिपोर्ट

सीरिया में 2018 में 1106 बच्चों की मौत हुई यह युद्ध की शुरुआत से अबतक की सबसे बड़ी संख्या है। सीरिया में नव वर्षों से संघर्ष जारी है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

सीरिया, सोमवार, 11 मार्च 2019 (रेई) : संयुक्त राष्ट्र बालकोष के महानिदेशक हेनरिट्टा फोर ने 11 मार्च को दिये अपने बयान में कहा कि सीरिया लड़ाई में केवल 2018 में 1,106 बच्चे मारे गए।  युद्ध की शुरुआत के बाद से एक साल में सबसे ज्यादा बच्चे मारे गए। ये सिर्फ वे संख्याएँ हैं जिन्हें संयुक्त राष्ट्र सत्यापित करने में सक्षम है, लेकिन वास्तविक आंकड़े संभवत: बहुत अधिक हैं। रेकॉर्ड अनुसार 2018 में स्कूल और स्वास्थ्य सुविधाओं के खिलाफ 262 हमले हुए थे।

महानिदेशक ने कहा,“आज एक बड़ी गलतफहमी है कि सीरिया में संघर्ष तेजी से समाप्त हो रहा है: ऐसा नहीं है। आठ वर्षों के संघर्ष के समान आज भी देश के कुछ हिस्सों में बच्चे खतरे में हैं। मैं विशेष रूप से इदलिबिन के उत्तर-पश्चिमी सीरिया में स्थिति के बारे में चिंतित हूँ, जहां पिछले कुछ हफ्तों में हिंसा की तीव्रता ने 59 बच्चों को मार दिया है।”

बदहाल परिस्थिति

उन्होंने कहा कि जॉर्डन की सीमा के पास ‘नो मैन्स लैंड’ रुकबन में भोजन, पानी, आश्रय, स्वास्थ्य देखभाल की सीमित पहुंच के कारण, परिवारों की स्थिति बहुत ही दयनीय है। सीरिया के उत्तर-पूर्व में, अल-होल शिविर में 56 हजार लोग बदहाल परिस्थिति में जी रहे हैं। वहाँ माता-पिता से अलग हुए करीब 240 बच्चे भी शामिल हैं। इस साल के जनवरी से लेकर अब तक बघौज से कैंप तक 300 किलोमीटर पैदल यात्रा के दौरान लगभग 60 बच्चों की मौत हो चुकी है।

बच्चों की सुरक्षा

सीरिया में 'विदेशी लड़ाकों' के बच्चों को किसी भी देश की नागरिकता मिलने से वंचित होने का डर है। यूनिसेफ सदस्य देशों से उन बच्चों की जिम्मेदारी लेने का आग्रह किया है जो उनके नागरिक हैं या उनके नागरिकों से पैदा हुए हैं।

इस क्षेत्र के पड़ोसी देश 2.6 मिलियन सीरियाई शरणार्थी बच्चों को शरण दिये हुए हैं, जो मेजबान सरकारों, संयुक्त राष्ट्र और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के समर्थन के बावजूद, अनेक चुनौतियों का सामना कर रहे हैं। कई परिवार अपनी थोड़ी कमाई की वजह से अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेज सकते हैं और अपना परिवार चलाने के लिए बाल श्रम और बाल विवाह जैसे नकारात्मक समाधान का चुनाव करते हैं।

यूनिसेफ पूरे सीरिया और पड़ोसी देशों में बच्चों को आवश्यक स्वास्थ्य, शिक्षा, संरक्षण और पोषण संबंधी सेवाएं प्रदान करने का काम करना जारी रखा है,लेकिन इतना पर्याप्त नहीं है।

यूनिसेफ संघर्षरत सभी पक्षों के साथ-साथ, उन लोगों से अपील करती है, जो उन पर प्रभाव डालते हैं, वे इस बात पर ध्यान दिए बिना कि कौन किस क्षेत्र को नियंत्रित करता है, सभी बच्चों की सुरक्षा को प्राथमिकता दें।

11 March 2019, 16:43