Vatican News
संत पापा स्लोवाकिया में संत पापा स्लोवाकिया में   (ANSA)

संत पापा ने स्लोवाकिया येसु समाजियों से मुलाकात की

संत पापा फ्रांसिस ने रविवार शाम को ब्रतिस्लावा के प्रेरितिक राजदूत निवास में स्लोवाकिया येसु संघियों से मुलाकात की। प्रोत्साहन की अभिव्यक्ति से भरी इस व्यक्तिगत भेंटवार्ता में संत पापा ने अपने येसु समाजी बंधुओं के संग महामारी, धर्मनिरपेक्षता और बुलाहट में आई गिरावट के संबंध में पूछे गये सालवों का स्नेहिल जवाब दिया।

दिलीप संजय एक्का-वाटिकन  सिटी

वाटिकन सिटी, रोमवार, 13 सितम्बर 2021 (रेई) संत पापा फ्रांसिस ने रविवार की शाम को स्लोवाकिया के प्रेरितिक राजदूत निवास पर 53 येसु संघी भाइयों से मुलाकात की।

अपनी प्रेरितिक यात्रा के दौरान स्थानीय येसु संघियों से संत पापा की भेंटवार्ता उनके कार्यक्रम का अंग बना गया है। इस भेंट में संत पापा उनके सावलों को सुनते उनसे स्वयं सवाल करते और उन्हें अपने प्रेरिताई कार्यों हेतु प्रोत्साहन देते हैं। रविवार को स्लोवाकिया येसु संघियों से मिलन के दौरान संत पापा के चेहरे में थकान के कोई चिन्ह नहीं थे।

एक पारिवारिक मिलन

वाटिकन रेडियो में कार्यरत स्लोवाकिया येसु समाजी फादर जोसेफ बार्टकोवाक ने कहा,“यह मिलन करीब एक घंटे का था जो एक शांतिमय तरीके से अपनी बखूबी में सम्पन्न हुआ। उन्होंने इस मिलन को एक पारिवारिक मिलन की संज्ञा दी।

ख्रीस्तीय एकतावर्धक सम्मेलन के सदस्यों को संबोधित करने के उपरांत रात्रि का भोजन ग्रहण किया बिना थे यद्यपि संत पापा फ्रांसिस तरोताजा दिखलाई दे रहे थे। अपने दिन भर की व्यस्तता के बाद भी थकानविहीन उन्होंने एक सच्चे मित्र की भांति सभों से मिलकर बातें कीं। जोसेफ ने कहा कि हमने उनकी बातों को सुना और अपने प्रेरितिक कार्य हेतु उनसे प्रेरणा ली।

प्रेरिताई हेतु प्रोत्साहन

संत पापा ने स्लोवाकिया के 80 येसु समाजियों में से उपस्थित 53 पुरोहितों को देश में अपने प्रेरिताई को निष्ठापूर्ण ढ़ंग से सम्पादित करने हेतु प्रेरणा दी जिसमें शिक्षण के कार्य, ईशशास्त्रीय संस्थानों का संचलन, आध्यात्मिक साधना मुख्य हैं जो कम्यूनिट शासन के काले समय में भी सक्रिय रहे।

फादर जोसेफ ने कोविड के समय में संत पापा के प्रोत्साहन पूर्ण बातों को पूरे प्रांत के लिए महत्वपूर्ण बतलाया जहां संत पापा ने जनसंख्या और बुलाहट की कमी पर भी कुछ बातें कहीं। “अतीत से अब तक हम इससे प्रभावित है... कम्यूनिट शासन के समय कलीसिया ने भूमिगत होकर नवशिष्यालय का संचालन गुप्त रुप में किया। इसके कारण पूरे प्रांत हेतु बुलाहट की स्थिति ठीक रही।”

नई चुनौतियाँ

फादर जोसेफ ने इस मिलन के अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि हमारे समक्ष बहुत सारी नई चुनौतियाँ हैं लेकिन संत पापा के संग हमारे मिलन ने हम सभों को इस बात का गहरा एहसास दिलाया कि वे सदैव हमारे साथ हैं तथा हमारे सभी कार्यों की प्रशंसा करते हैं। “उन्हें हमें परिस्थितियों से निराश नहीं होने को कहा। हर येसु समाजी का संत पापा के साथ अपने को संयुक्त करना उनकी पहचान को मजबूती प्रदान करता है।”

सावल और जवाब

स्लोवाकिया येसु समाजियों का संत पापा के संग मिलन का एक अति संतोषजनक क्षण खुले रुप में सवालों का आदान-प्रदान था जिसमें संचार माध्यमों की अनुपस्थिति रही। यह एक व्यक्तिगत मुलाकात रही जिसकी विषयवस्तु खुले रुप में नहीं आई है यद्यपि बहुतों ने संत पापा के विचारों पर अपनी राय दी है। फादर जोसेफ ने कहा, “यह सभी रुपों में एक स्वाभाविक मिलन का समय था, जिसमें बहुत से सवाल न केवल पुरोहितों की ओर अपितु संत पापा की ओर से भी आये। हमने बहुत-सी बातों का जिक्र खुले रुप में किया।”

इस मिलन का इति एक सामूहिक फोटो से हुआ जहाँ सभों ने संत पापा फ्रांसिस से अपने मिलन को शत-प्रतिशत संतोष भरा क्षण कहा।

 

13 September 2021, 17:54