Vatican News
प्रवासी: 455 के साथ सी वॉच 4 जहाज ट्रैपानी में प्रवासी: 455 के साथ सी वॉच 4 जहाज ट्रैपानी में   (ANSA)

यूरोप में भूमध्यसागर सबसे बड़ा कब्रिस्तान है, संत पापा

रविवार को संत पापा फ्राँसिस ने 18 अप्रैल, 2015 को सिसिली जलडमरूमध्य में जहाज के मलबे को याद किया जिसमें कम से कम एक हजार प्रवासियों की जान चली गई थी। सिसिली में ऑगस्टा के बंदरगाह में रविवार रात को एक सामाजिक और धार्मिक समारोह स्मृति के स्मारक के रूप में मलबे का अभिषेक किया गया। स्टेला मारिस के अंतर्राष्ट्रीय निदेशक फादर ब्रूनो सिसेरी ने कहा कि एक प्रतीक जो हमें दुनिया को बदलने के लिए मजबूर करता है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 14 जून 2021 (वाटिकन न्यूज) : संत पापा फ्राँसिस ने रविवार को संत पेत्रुस महागिरजाघऱ के प्रांगण में देवदूत प्रार्थना के अंत में, उस समारोह को याद किया जो शाम 6.30 बजे सिसिली में ऑगस्टा बंदरगाह के नए डोक में होने वाला था। एक घटना जो दुनिया को 18 अप्रैल, 2015 की त्रासदी की याद दिलाना चाहती है, जब एक हजार से अधिक प्रवासियों के साथ एक मछली पकड़ने वाली नाव सिसिली के जलडमरूमध्य में जलमग्न हो गई थी। केवल 28 को बचाया गया था। आज, उस नाव के मलबे को वेनिस से लौटाने के बाद सिसिली शहर के बंदरगाह में स्थायी रूप से प्रदर्शित किया जाएगा,  इसे 2019 में बिएननेल के लिए प्रदर्शित किया गया था। संत पेत्रुस महागिरजाघऱ के प्रांगण में एकत्रित विश्वासियों को संबोधित करते हुए, संत पापा फ्राँसिस ने भूमध्यसागर में हर दिन जो कुछ भी होता है, उससे दूर नहीं होने का आह्वान किया। एक जगह जिसे उन्होंने "यूरोप का सबसे बड़ा कब्रिस्तान" कहा।

समग्र मानव विकास विभाग में स्टेला मारिस के अंतरराष्ट्रीय निदेशक फादर ब्रूनो सिसेरी ने वाटिकन रेडियो को बताया कि न्यू डॉक में मलबे को रखने की पहल का उद्देश्य अंतरात्मा की आवाज, सभी ज्ञात त्रासदियों का प्रतीक है, जिसमें पुरुषों, महिलाओं और बच्चों को बेहतर जीवन की तलाश में अपनी भूमि छोड़ने के लिए मजबूर किया गया था।

फादर ब्रूनो ने बताया कि इस शाम की पहल को इटालियन चैंबर ऑफ डेप्युटीज का संरक्षण मिला है और यह स्टेला मारिस के समारोहों का हिस्सा है। ऑगस्टा के पुरोहितों के साथ सिराकूसा के महाधर्माध्यक्ष फ्रांसेस्को लोमांटो पवित्र मिस्सा का अनुष्ठान करेंगे। समारोह के अंत में अधिकारियों के सामने बारकोन के पास एक बड़े क्रॉस का अनावरण किया जाएगा। सभी पीड़ितों के साथ एक आभासी और प्रतीकात्मक आलिंगन करती हुई दुखियों की माता मरियम  को क्रूस के बगल में रखा जाएगा। इस पहल को 18 अप्रैल की समिति द्वारा, नगरपालिका प्रशासन, स्टेला मारिस और पूर्वी सिसिली सागर के बंदरगाह प्राधिकरण के सहयोग से बढ़ावा दिया गया था।

14 June 2021, 15:25