Vatican News
कलीसिया की माता कुंवारी माँ मरियम कलीसिया की माता कुंवारी माँ मरियम 

23 एवं 24 मई का संत पापा का ट्वीट संदेश

संत पापा फ्राँसिस ने 23 मई पेंतेकोस्त रविवार की विभिन्न गतिविधियों को ध्यान में रखते हुए पाँच ट्वीट किया और 24 मई को कलीसिया की माता मरियम एवं चीन की संरक्षिका ख्रीस्तियों की सहायिका धन्य कुवांरी माता मरियम’ पर्व के अवसर पर ट्वीट कर सभी विशावसियों को माता मरिया की मध्यस्ता द्वारा चीन के लिए प्रार्थना करने हेतु प्रेरित किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, सोमवार 24 मई 2021 (रेई) : वार्षिक पंचांग अनुसार 23 मई आठवां रविवार है इस दिन काथलिक कलीसिया पेंतेकोस्त का महोत्सव मनाती है। इस दिन संत पापा फ्राँसिस ने संत पेत्रुस महागिरजाघर में ख्रीस्तियों के साथ पवित्र मिस्सा का अनुष्ठान किया। साथ ही स्वर्ग की रानी प्रार्थना का पाठ करने के बाद कोलंबिया और कोंगो को लोगों को याद किया। इन सभी घटनाओं के मद्देनजर संत पापा फ्राँसिस ने निम्नलिखित पांच ट्वीट किया।

23 मई का 1ला ट्वीट

संत पापा फ्राँसिस ने लिखा, "पवित्र आत्मा, ईश्वर का प्रेम, हमारी आत्मा में कार्य करता है। वह "दिल के भीतर", "आत्मा के सबसे स्वागत योग्य अतिथि" के रूप में नीचे आता है। वह परमेश्वर का प्रेम है, जो हमें नहीं छोड़ता।" # पेंतेकोस्त

2रा ट्वीट

संदेश में संत पापा ने लिखा, " आइए हम अपने हृदयों को पवित्र आत्मा के उपहार के लिए खोलें, जो हमें मृतकों और पुनर्जीवित मसीह में परमेश्वर के प्रेम की सारी सुंदरता और सच्चाई का अनुभव कराता है। और यह हमें बाहर जाने के लिए प्रेरित करता है, इस प्रेम की गवाही देने के लिए जो हमेशा अपनी दया के साथ हमारे सामने आता है।" # पेंतेकोस्त

3रा ट्वीट

संत पापा ने कोलंबिया वासियों के लिए प्रार्थना करने हेतु आमंत्रित किया,  "आइये, हम सब मिलकर कोलंबिया की स्थिति के लिए प्रार्थना करें, जो अभी भी चिंताजनक है। मैं सभी से मानवीय कारणों से बचने का आह्वान करता हूँ, ऐसे व्यवहार जो शांतिपूर्ण विरोध के अधिकार का प्रयोग करने में आबादी के लिए हानिकारक हैं।"

4था ट्वीट

इस ट्वीट में संत पापा ने ज्वालामुखी से प्रभावित गोमा शहर के लोगों के लिए प्रार्थना की अपील करते हुए संदेश लिखा, "आइए, हम कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य के गोमा शहर की आबादी के लिए भी प्रार्थना करें, जो महान ज्वालामुखी, माउंट न्यारागोंगो के विस्फोट के कारण पलायन करने के लिए मजबूर हैं।"

5वां ट्वीट

संत पापा फ्रांसिस ने येसु समाज के संस्थापक संत इग्नासियुस लोयोला के मन-परिवर्तन के 500 साल पूरा होने के उपलक्ष्य में सभी येसु समाजियों को पूरी दुनिया में जाने और लोगों को अपने आध्यात्मिक जीवन को जीने में मदद करने हेतु प्रेरित किया।

संदेश में उन्होंने लिखा, "मैं आपको हार्दिक आशीर्वाद देता हूँ, ताकि यह इग्नासियुस वर्ष वास्तव में दुनिया में जाने, लोगों को उनकी आध्यत्मिकता में मदद करने, मसीह में सभी चीजों को नया देखने के लिए एक प्रेरणा बने।"

24 मई 1ला ट्वीट

सोमवार को संत पापा ने  पहले ट्वीट में लिखा,"पवित्र आत्मा, दिलासा देनेवाले आत्मा, हमारे दिलों को आराम दें। हमारे अधिवक्ता, आत्मा के मधुर परामर्शदाता, हमें ईश्वर के "आज", कलीसिया और मानवता के लिए एकता के भविष्यद्वक्ता और गवाह बनाइये, आपकी कृपा सभी चीजों को बनाता और नवीनीकृत करता है।"

2रा ट्वीट

काथलिक कलीसिया आज कलीसिया का माता मरियम को पर्व मनाती है। इस संदर्भ में संत पापा ने ट्वीट कर सभी विश्वासियों को माता मरियम के सिपुर्द करने के लिए प्रेरित किया।

संदेश में उन्होंने लिखा, "आइए, हम खुद को कलीसिया का माता मरियम के सिपुर्द करें, ताकि पवित्र आत्मा हमारे समय के कलीसिया पर बहुतायत से उतर सके, सभी विश्वासियों के दिलों को भर सके और उनमें उनके प्यार की आग जला सके।"

3रा ट्वीट

आज चीन की काथलिक कलीसिया अपनी राष्ट्रीय संरक्षिका ‘ख्रीस्तियों की सहायिका माता मरियम’ का पर्व मना रही है। इस दिन ट्वीट कर संत पापा फ्राँसिस ने दुनिया भर के विश्वासियों को चीनी काथलिकों के साथ प्रार्थना में सम्मिलित होने के लिए आमंत्रित किया।

संदेश में उन्होंने लिखा, "‘ख्रीस्तियों की सहायिका धन्य कुवांरी माता मरियम’ पर्व के दिन आइए, हम चीन के प्यारे भाइयों और बहनों के लिए प्रार्थना करें। पवित्र आत्मा उनका मार्गदर्शन करे और उन्हें अपने देश में सुखद संदेश वाहक, उदारता के गवाह और न्याय एवं शांति के निर्माता बनने में मदद करे।"

4था ट्वीट

संत पापा फ्राँसिस के विश्वपत्र "लौदातो सी' वर्ष का समापन आज हो रहा है। इसे सूचित करते हुए ट्वीट में संत पापा ने इस वर्ष के दौरान कई पहलों में भाग लेने वालों को अपने कार्य जारी रखने हेतु प्रेरित किया।

संत पापा ने लिखा, "आज "लौदातो सी' वर्ष" समाप्त हो रहा है। मैं उन लोगों को धन्यवाद देता हूँ जिन्होंने दुनिया भर में कई पहलों में भाग लिया। यह एक यात्रा है, जिसे हमें पृथ्वी और गरीबों की पुकार सुनते हुए एक साथ जारी रखना चाहिए।"

24 May 2021, 15:51