Vatican News
वाटिकन लाईब्रेरी में स्विटज़रलैण्ड के राष्ट्रपति गुई पारमालेन तथा शिष्ठमण्डल सन्त पापा फ्राँसिस के साथ 06-05-21 वाटिकन लाईब्रेरी में स्विटज़रलैण्ड के राष्ट्रपति गुई पारमालेन तथा शिष्ठमण्डल सन्त पापा फ्राँसिस के साथ 06-05-21  (AFP or licensors)

स्विज़ गार्ड सेना में भर्ती नये सदस्यों की सन्त पापा से मुलाकात

सन्त पापा फ्राँसिस ने गुरुवार को स्विज़ गार्ड सेना में भर्ती नवसैनिकों का साक्षात्कार कर उनके मिशन के लिये धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने कहा कि शिष्टाचार एवं अन्यों को मदद करने के उनके सदगुण कलीसिया के लिये एक सुन्दर साक्ष्य का संकेत हैं।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 7 मई 2021 (रेई,वाटिकन रेडियो): सन्त पापा फ्राँसिस ने गुरुवार को स्विज़ गार्ड सेना में भर्ती नवसैनिकों का साक्षात्कार कर उनके मिशन के लिये धन्यवाद ज्ञापित किया। उन्होंने कहा कि शिष्टाचार एवं अन्यों को मदद करने के उनके सदगुण कलीसिया के लिये एक सुन्दर साक्ष्य का संकेत हैं।

स्विज़ गार्ड्स का मिशन

वाटिकन में 34 नये सैनिकों एवं उनके परिवारों से, गुरुवार को, मुलाकात के अवसर पर सन्त पापा फ्राँसिस ने स्विज़ गार्ड सेना के इतिहास तथा कलीसिया के परमाध्यक्ष की सुरक्षा हेतु पूर्व सैनिकों द्वारा अर्पित जीवन बलिदान को याद किया तथा उनके समर्पण की सराहना की।  

स्विज़ गार्ड्स सेना के कार्यों की प्रशंसा करते हुए सन्त पापा ने कहा, आपके साथ मिलकर मैं, सभी अच्छाइयों के स्रोत प्रभु ईश्वर के प्रति उन वरदानों एवं बुलाहटों के लिये धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ जिन्हें प्रभु ने आपके सिपुर्द किया है। मैं प्रार्थना करता हूँ कि जो युवा इस समय अपना मिशन शुरु कर रहे हैं वे पूर्ण निष्ठा एवं ईमानदारी के साथ प्रभु येसु ख्रीस्त की बुलाहट का प्रत्युत्तर दें।

धन्यवाद

उन युवाओं की भी सन्त पापा ने सराहना की जो अपने जीवन के कुछ वर्ष सन्त पेत्रुस के उत्तराधिकारी तथा विश्वव्यापी कलीसियाई समुदाय की सेवा में गुज़ार देते हैं। उन्होंने कहा, "परमधर्मपीठ के प्रति निष्ठावान सेवा में, पेशेवर एवं आध्यत्मिक पहलुओं को संयोजित करने की आपकी क्षमता की मैं सराहना करता हूँ।"

सन्त पापा ने कहा कि जो तीर्थयात्री एवं पर्यटक रोम आते हैं उन्हें आपकी विनम्र एवं सहायक सेवा का अनुभव करने का सुअवसर मिलता है, जिसके लिये मैं आपके प्रति एवं ईश्वर के प्रति आभार व्यक्त करता हूँ।

नवसैनिकों को आशीर्वाद देते हुए सन्त पापा ने आशा व्यक्त की कि अनन्त शहर रोम में व्यतीत उनका समय उनके विश्वास एवं कलीसिया के प्रति उनके प्रेम को मज़बूत करेगा।

07 May 2021, 11:18