Vatican News
13 .10.2019 को संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में  संत घोषणा समारोह 13 .10.2019 को संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में संत घोषणा समारोह  (AFP or licensors)

संत पापा द्वारा संत प्रकरण परिषद की आज्ञप्तियों को अनुमोदन

सन्त पापा फ्राँसिस ने धन्य घोषणा को लिये परमधर्मपीठीय सन्त प्रकरण परिषद द्वारा प्रस्तुत शहीदों एवं प्रभु सेवकों की आज्ञप्तियों को स्वीकार कर धन्य घोषणा को अनुमोदन प्रदान कर दिया है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, शनिवार 20 जून 2020 (वाटिकन न्यूज) : सन्त पापा फ्राँसिस ने शुक्रवार 19 जून को धन्य घोषणा के लिये परमधर्मपीठीय सन्त प्रकरण परिषद के अध्यक्ष कार्डिनल आन्जेलो बेचू द्वारा प्रस्तुत आज्ञप्तियों को स्वीकार कर 1 शहीद एवं 4 प्रभु सेवकों की धन्य घोषणा को अनुमोदन प्रदान कर दिया है। वे दक्षिण अमेरिका और यूरोप के महाद्वीपों का प्रतिनिधित्व करते हैं और गरीबों, राष्ट्रों और युवाओं की सेवा पर प्रकाश डालते हैं।

कलीसिया के 4 उम्मीद्वारों के चमत्कार को मान्यता मिलीः

- ऑर्डर ऑफ फ्रायर्स माइनर धर्मसंघ के सदस्य एवं, कोर्डोबा (अर्जेंटीना) के धर्माध्यक्ष प्रभु सेवक मामेरतो एसेक्वी। इनका जन्म 11 मई 1826 को संत जोस डे पिड्रा ब्लैंका (अर्जेंटीना) में हुआ था और 10 जनवरी 1883 को ला पोस्टा डी एल सुंचो (अर्जेंटीना) में उनका निधन हो गया।

- ईश सेवक फ्रांजिसकुस मारिया क्रॉस (नी जोहान बैपटिस्ट जॉर्डन), सोसाइटी ऑफ द डिवाइन सेवियर (साल्वेटोरियन) के संस्थापक और दिव्य उद्धारकर्ता की धर्मबहनों के संघ के संस्थापक। इनका जन्म 16 जून 1848 को गर्टवेइल, वाल्डशूट-टिएनगेन (जर्मनी) में हुआ था और 08 सितंबर 1918 को टफ़र्स, फ़्राइबर्ग (स्विट्जरलैंड) में निधन हुआ था।

- प्रभु सेवक जोस ग्रेगोरियो हर्नांडेज सिस्नरोस।  जिनका जन्म 26 अक्टूबर, 1864 को इस्नोतु (वेनेजुएला) में हुआ था और 29 जून, 1919 को काराकस (वेनेजुएला) में निधन हो गया।

- प्रभु सेविका येसु एलिसंडो गार्सिया के देव ग्लोरिया मारिया (नी स्पेरान्ज़ा)। मिशनरी काटेकिस्ट ऑफ़ द पुअर धर्मसंध की मदर जनरल।  इनका जन्म 26 अगस्त, 1908 को डुरंगो (मैक्सिको) में हुआ था और 8 दिसंबर, 1966 को मॉन्टेरी (मैक्सिको) में उनका निधन हो गया था।

कलीसिया के शहीद

धन्य घोषित किये जानेवाली शहीद का परिचय इस प्रकार हैः

ईश सेविका मारिया लॉरा मैनेट्टी (नी तेरेसीना एलसा)  क्रूस की पुत्रियों के धर्मसंध, संत एंड्रयूज़ की धर्मबहनों के समुदाय की धर्मबहन।  इनका  जन्म 20 अगस्त 1939 को कोलिको (इटली) में हुआ था और 6 जून 2000 को अपने विश्वास के खातिर चियावेना (इटली) में मार दिया गया। इनके वीरोचित गुणों को स्वीकार कर संत पापा फ्राँसिस ने इनकी धन्य घोषणा को अनुमोदन दे दिया है।       

20 June 2020, 14:48