Vatican News
जापान का शहीद स्थल जापान का शहीद स्थल  (AFP or licensors)

शहादत ख्रीस्तियों और समुदाय के जीवन की सांस है, संत पापा

संत पापा ने ट्वीट प्रेषित कर आगमन के पुण्यकाल में सभी ख्रीस्तियों को अपने विश्वास को नवीनीकृत करने और विश्वास के लिए शहादत को ख्रीस्तीय समुदाय के जीवन की सांस कहा।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बुधवार 11 दिसम्बर 2019 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने बुधवार, 11 दिसम्बर को दो ट्वीट प्रेषित कर आगमन के इस पवित्र समय में सभी विश्वासियों से मिशनरी प्रेरितिक बुलाहट के प्रति विश्वासी बने रहने की प्रेरणा दी।

प्रथम ट्वीट में संत पापा ने लिखा, “आइये, आगमन के इस पुण्य काल में हम प्रभु से कृपा मांगे कि हम येसु ख्रीस्त में अपने विश्वास को नवीनीकृत कर सकें जो हमें बचाने हेतु इस दुनिया में आ रहे हैं। मिशनरी प्रेरित के रुप में हमें अपने की बुलाहट को निष्ठा के साथ जीने में प्रभु हमारी मदद करें।”   

दूसरे ट्वीट में संत पापा ने लिखा, “आज दुनिया में कई ख्रीस्तीयों को सताया जा रहा है और अनेकों ने अपने विश्वास के लिए अपनी जान दी है। शहादत ख्रीस्तियों और ख्रीस्तीय समुदाय के जीवन की सांस है। हमारे बीच हमेशा शहीद होते रहेंगे, यह इस बात का संकेत है कि हम येसु के बताये रास्ते पर चल रहे हैं।”

11 December 2019, 16:13