Vatican News
थाईलैंड की महिलायें थाईलैंड की महिलायें  (ANSA)

संत पापा ने गरीबों के साथ चलने की प्रेरणा दी, सिस्टर पावला

थाईलैंड, तलिथा कुम की सचिव, सिस्टर पावला फोन्सप्रसेरीहक्सा ने थाईलैंड में सरकारी प्रतिनिधियों, राजनीतिक और धार्मिक नेताओं, राजनयिकों और नागर समाज के प्रतिनिधियों को दिये गये संत पापा के संदेश पर चिंतन करते हुए कहा कि उन्होंने महिलाओं और बच्चों के खिलाफ हिंसक अपराधों से लड़ने के लिए प्रोत्साहित किया है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

बैंकॉक,गुरुवार 21 नवम्बर 2019 (वाटिकन न्यूज) : “संत पापा फ्राँसिस ने आज हमें गरीबों और आवाज़हीनों के साथ चलने के लिए प्रेरित किया। "हम अपने भाइयों और बहनों से अपना मुंह नहीं मोड़ सकते जो तस्करी का शिकार बन जाते हैं।" गुरुवार को थाईलैंड में सरकारी उच्चाधिकारियों को दिए गए अपने संबोधन के दौरान संत पापा के शब्दों को सुनने के बाद सिस्टर पावला फोन्सप्रसेरीहक्सा ने अपनी प्रतिक्रिया दी।

 

अपने संदेश में, संत पापा ने उन सभी महिलाओं और बच्चों की ओर से बात की, जो "शोषण, दासता, हिंसा और हर तरह के दुर्व्यवहार का शिकार बनती हैं।"

वाटिकन संवाददाता बियांका फ्रैक्लेवियरी से बात करते हुए सिस्टर पावला ने कहा कि संत पापा फ्रांसिस ने उन्हें अपराध से निपटने के लिए अपने आराम की जिन्दगी से बाहर आने और बच्चों एवं महिलाओं पर होने वाली सभी हिंसाओं को रोकने के लिए प्रोत्साहित किया।

 

उनका कहना है कि, तलिथा कुम अलग-अलग धर्मसमाजों की धर्मबहनों से बनी एक संगठन है जो सरकार और स्थानीय कलीसिया की संस्थाओं जैसे कारितास थाईलैंड और सागर के प्रेरितों के संगठनों के सहयोग से अपने काम को आगे बढ़ाती है।

 

उन्होंने कहा, “लोगों को तस्करी से बचाने और हिंसा से बचाने के लिए हम मिलकर एक साथ काम करते हैं।"

 

सिस्टर पावला ने भी संत पापा के प्रति अपना आभार व्यक्त करते हुए कहा, “उनकी थाईलैंड यात्रा मानव जीवन के लिए अपना जीवन समर्पित करने के लिए, दूसरों के लिए अच्छा करने के लिए आशीर्वाद और शक्ति देती है। हम आभारी हैं कि वे हमारे छोटे देश में आये हैं।”

 

2009 में, अंतर्राष्ट्रीय संघ के सुपरियर्स जनरल (यूआईएसजी) असेंबली ने मानव तस्करी के खिलाफ धर्मबहनों के एक अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क तलिथा कुम का गठन किया।

21 November 2019, 15:22