Vatican News
सृष्टि की रचना का समय, लाओदातो सी,  पोस्टरः 31.08.2020 सृष्टि की रचना का समय, लाओदातो सी, पोस्टरः 31.08.2020 

सृष्टि के मौसम 2021 पर यूरोपीय कलीसियाएँ एवं धर्माध्यक्ष

यूरोप की ख्रीस्तीय कलीसियाओं तथा यूरोपीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलनों के संघ ने "सृष्टि के मौसम 2021" शीर्षक से आयोजित प्रार्थना अवधि पर एक संयुक्त वकतव्य जारी कर सृष्टि की सुरक्षा तथा मानवजति के सामान्य धाम यानि धरती को पर्यावरण के ह्रास से बचाने के लिये प्रार्थना का आग्रह किया है।

जूलयट जेनेवीव क्रिस्टफर-वाटिकन सिटी

यूरोप, शुक्रवार, 27 अगस्त 2021 (रेई, वाटिकन रेडियो): यूरोप की ख्रीस्तीय कलीसियाओं तथा यूरोपीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलनों के संघ ने "सृष्टि के मौसम 2021" शीर्षक से आयोजित प्रार्थना अवधि पर एक संयुक्त वकतव्य जारी कर सृष्टि की सुरक्षा तथा मानवजति के सामान्य धाम यानि धरती को पर्यावरण के ह्रास से बचाने के लिये प्रार्थना का आग्रह किया है।   

सृष्टि की सुरक्षा हेतु पहली सितम्बर को ख्रीस्तीय एकतावर्द्धक प्रार्थना दिवस आरम्भ हो रहा है जो असीसी के सन्त फ्राँसिस के पर्व दिवस पर 04 अक्टूबर को समाप्त होगा। सन्त पापा फ्राँसिस ने इस अवधि के विषय में कहा है कि यह हमारे सामान्य धाम की रक्षा का यह निर्णायक क्षण है।

सृष्टि का मौसम 2021

"सृष्टि का मौसम 2021", ख्रीस्त के अनुयायियों के बीच सम्बन्ध का विशिष्ट समय है। यह ईश्वर एवं सम्पूर्ण सृष्टि के साथ सम्बन्ध स्थापित करने, मन परिवर्तन करने तथा सृष्टि सुरक्षा के प्रति स्वतः को समर्पित करने का निर्णायक क्षण है। इस अवधि के दौरान एक संयुक्त एकतावर्द्धक परिवार के सदृश प्रभु ख्रीस्त के समस्त अनुयायी, अपने सामान्य धाम की सुरक्षा हेतु, प्रार्थना एवं कार्यों में एकजुट होते हैं।   

यूरोपीय कलीसियाओं एवं यूरोप के काथलिक धर्माध्यक्षों ने "सृष्टि के मौसम 2021" के लिये प्रकाशित अपना वकतव्य उत्पत्ति ग्रन्थ से लिये गये अब्राहम के उस कथन से आरम्भ किया, जब अब्राहम तम्बू के द्वार के बाहर खड़े लोगों से मिलते वक्त कहता है, "प्रभु, यदि मुझपर आपकी कृपा हो तो अपने सेवक के सामने से यों ही न चले जायें।"

सामान्य धाम की सुरक्षा

यूरोप के धार्मिक नेताओं ने कहा कि इस वर्ष अब्राहम का तम्बू, सृष्टि और हमारे सामान्य धाम की सुरक्षा के प्रति हमारे संकल्प का प्रतिनिधित्व करने के लिये चुना गया है, ताकि हम सम्वाद एवं स्वागत की भावना में सृष्टि की रक्षा हेतु तत्पर रहें।

यूरोप के धार्मिक नेताओं ने लिखा, "बाईबिल के इस पाठ की प्रज्ञा धरती की सुरक्षा हेतु यूरोप की कलीसियाओं की तीर्थयात्रा एवं उसके संकल्प को दृढ़ता  प्रदान कर उसे नवीकृत करता है। प्रार्थना एवं ठोस कार्यों द्वारा हम सब मिलकर सृष्टि की रक्षा का बीड़ा उठायें ताकि यह धरती बिना किसी भेदभाव के ईश्वर की समस्त सन्तानों का सामान्य घर और सामान्य धाम बन जाये।"

उन्होंने लिखा कि वह सामान्य धाम, जिसमें सब मनुष्यों की भागीदारी है, एक ऐसी संकल्पना है जो, न्याय पर आधारित अखण्ड एवं धारणीय विकास की तलाश में, सम्पूर्ण मानव परिवार को एकता के सूत्र में बाँधती है।

यूरोपीय ख्रीस्तीय कलीसियाओं के संघ के अध्यक्ष क्रिस्टियन क्रीगर तथा यूरोपीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलनों के संध के अध्यक्ष कार्डिनल आन्जेलो बान्यास्को द्वारा हस्ताक्षरित उक्त वकत्वय में कहा गया कि सृष्टि की सुरक्षा एवं मानव के अखण्ड विकस के लिये ईश्वर के साथ, दूसरों के साथ तथा प्रकृति के साथ गुणकारी एवं रचनात्मक सम्बन्धों की नितान्त आवश्यकता है, क्योंकि ऐसा कर ही हम अब्राहम के सदृश निःस्वार्थ स्वागत, ईमानदारी की भावना में किये गये सम्वाद तथा हमारे सामान्य धाम की सुरक्षा में साझा ज़िम्मेदारी निभाने में सक्षम बन सकेंगे।     

27 August 2021, 11:24