Vatican News
लीमा के अस्पताल के बाहर लोग इंतजार करते हुए लीमा के अस्पताल के बाहर लोग इंतजार करते हुए  (AFP or licensors)

आगामी चुनाव पर पेरू के धर्माध्यक्षों ने नियम के सम्मान का आह्वान किया

पेरू के काथलिक धर्माध्यक्षों ने इस सप्ताह के अंत में होने वाले चुनाव में लोगों का आह्वान किया है कि वे महामारी की स्थिति में चुनाव के नियमों एवं लोकतंत्र पर ध्यान दें।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

पेरू, मंगलवार, 6 अप्रैल 2021 (वीएनएस)- पेरू के धर्माध्यक्षों ने अगले सप्ताह 11 अप्रैल को राष्ट्रपति के चुनाव के मद्देनजर जनता से आह्वान किया है कि वे महामारी को ध्यान में रखते हुए चुनाव के नियमों एवं लोकतंत्र का पालन करें।

5 अप्रैल को प्रकाशित पत्र में राजनीतिक दलों से अपील की गई है कि वे चुनाव के नियमों का पालन करें तथा नैतिक प्रतिबद्धता पर ध्यान दें। चूँकि चुनाव महामारी की स्थिति के बीच किया जा रहा है धर्माध्यक्षों ने आधिकारिक रूप से परिणाम प्रकाशित नहीं हो जाने तक, वोट डालनेवालों के बीच स्थिरता, सहिष्णुता और सम्मान की भावना को बनाये रखने की अपील की है।

पेरू के धर्माध्यक्षों ने लिखा है कि "विगत पाँच सालों में चार राष्ट्रपतियों और दो सभाओं द्वारा लोकतंत्र को गंभीर रूप से दुर्बल किया गया है जिसके कारण देश का समग्र विकास नहीं हो पाया है और लोकतांत्रिक संस्था को मजबूत करने एवं महामारी का सामना करने में देश को बहुत कष्ट झेलना पड़ रहा है।"

अतः धर्माध्यक्षों ने संत पापा के शब्दों में एक ऐसी नीति का आह्वान किया है जो सार्वजनिक हित की दिशा में उन्मुख हो, जो सबसे जरूरतमंद लोगों पर ध्यान दे एवं सबसे कमजोर लोगों की मदद, न्याय, मेल-मिलाप, दूसरों की सेवा और व्यक्ति के मौलिक अधिकार की गारांटी के लिए वार्ता का सहारा लिया जाए। अधिकारियों से निष्पक्षता एवं आधिकारिक परिणामों को शीघ्र और विश्वसनीय रूप से प्रकाशित करने की मांग की गई है जिससे कि देश की भलाई हेतु संदेह, उलक्षन एवं ध्रुवीकरण को रोका जा सके।

अंततः पेरू के धर्माध्यक्षों ने नागरिकों को सीधे सम्बोधित किया है कि वे अपने अधिकार का प्रयोग करें, लोकतंत्रिक कर्तव्य को जिम्मेदारी के साथ पूरा करें क्योंकि भविष्य उन्हीं के हाथों में है। उन्होंने स्वास्थ्य सुरक्षा नवाचार का सम्मान करने एवं स्वतंत्र, पारदर्शी एवं जिम्मेदारीपूर्ण चुनाव का भी निमंत्रण दिया है।

06 April 2021, 13:59