Vatican News
चेबु का गिरजाघर चेबु का गिरजाघर  (ANSA)

चेबु के महाधर्माध्यक्ष द्वारा जलवायु परिवर्तन पर खास सम्मेलन

फिलीपींस में ख्रीस्तीय धर्म के आगमन की 500वीं वर्षगाँठ मनाने हेतु तैयारी की जा रही है। इसके लिए 31 जनवरी से 1 फरवरी तक एक सम्मेलन का आयोजन किया गया है। सम्मेलन में विभिन्न पल्लियों, निजी क्षेत्रों और नीति विशेषज्ञों के कुल 160 प्रतिभागी शामिल होंगे।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

चेबु सिटी, बृहस्पतिवार, 30 जनवरी 2020 (एशियान्यूज)˸ चेबु के महाधर्माध्यक्ष जोश सेरोफिया पाल्मा ने जलवायु परिवर्तन का सामना करने के संत पापा फ्राँसिस के निमंत्रण को स्वीकार करते हुए, 31 जनवरी से 1 फरवरी तक स्थानीय काथलिकों के लिए एक सम्मेलन का आयोजन किया है। जलवायु परिवर्तन पर यह पहला सम्मेलन है जिसमें स्थानीय काथलिक भाग लेंगे।

विभिन्न पल्लियों, निजी क्षेत्रों एवं नीति विशेषज्ञों के कुल 160 प्रतिनिधि सम्मेलन में भाग लेंगे तथा पर्यावरण के मुद्दों पर विचार-विमर्श करेंगे।

महाधर्माध्यक्ष जोश सोरोफिया पाल्मा ने 29 जनवरी को एक प्रेस सम्मेलन में कहा कि सृष्टि की रक्षा करना, फिलीपींस के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (सीबीसीपी) की प्राथमिकता हो गयी है।  

उन्होंने कहा, "मैं बतलाना चाहता हूँ कि सीबीसीपी में हमारी अधिक सभाएँ इस बात का जवाब देने के लिए हुई हैं कि हम पर्यावरण की गिरावट का सामना किस तरह करें।"

सभा में ज्वालामुखी विस्फोट, समुद्री तुफान, भूकम्प और बाढ़ जैसे प्राकृतिक आपदाओं से हमारा पर्यावरण नष्ट हो रहा है जिसका सामना हम विश्वास के परिप्रेक्ष्य से क्या कर सकते हैं।

महाधर्माध्यक्ष पाल्मा के लिए जलवायु आपातकालीन सम्मेलन, फिलीपींस में ख्रीस्तीय धर्म की 500वीं वर्षगाँठ, समारोह का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होगा, जिसको स्थानीय कलीसिया अगले साल मनाने की तैयारी कर रही है।

उन्होंने कहा, "जलवायु आपातकाल का सामना करने के लिए हमें एक साथ कार्य करना चाहिए, यही मेरे लिए तैयारी का एक महत्वपूर्ण आयाम है। जयन्ती समारोह की प्रमुख कार्यक्रम चेबु में सम्पन्न होंगे।"

सन् 1521 में जब स्पानी मिशनरियों का आगमन हुआ था तब उन्होंने चेबु में ही पहला बपतिस्मा दिया था तथा स्थानीय लोगों को बालक येसु की प्रतीमा प्रदान की थी। महाधर्माध्यक्ष की आशा है कि बालक येसु के भक्त सृष्टि की रक्षा उसी तरह करेंगे जिस तरह उन्होंने बालक येसु की प्रतिमा को सुरक्षित रखा है।   

 

30 January 2020, 16:34