Vatican News
प्रेरितिक राजदूतों के साथ संत पापा प्रेरितिक राजदूतों के साथ संत पापा  (ANSA)

फ्राँस एवं पुर्तगाल के प्रेरितिक राजदूतों का त्यागपत्र

संत पापा फ्राँसिस ने फ्राँस एवं पुर्तगाल के प्रेरितिक राजदूतों का त्यागपत्र स्वीकार किया।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 4 जुलाई 2019 (रेई)˸ 75वें जन्म दिवस के बाद मडरिड के प्रेरितिक राजदूत रेन्त्सो फ्रातीनी एवं लिस्बॉन के प्रेरितिक राजदूत रिनो पास्सागातो के त्याग पत्र को संत पापा फ्राँसिस ने 4 जुलाई को स्वीकार कर लिया।

मोतु प्रोप्रियो "इमपरारे आ कोनजेदासी" के अनुसार परमधर्मधर्मपीठ के प्रतिनिधियों, धर्माध्यक्षों एवं परमाध्यक्षीय रोमी कार्यालय के अधिकारियों को अपने 75वें जन्म दिवस के बाद पद त्याग करना है।

मोतु प्रोप्रियो "इमपरारे आ कोनजेदासी" का प्रकाशन 15 फरवरी 2018 को हुआ था। 75 साल पूरा होने पर परमधर्मपीठ के प्रतिनिधि यदि इपसो फक्तो (विशेष परिस्थिति) के द्वारा अपने कार्यालय से मुक्त नहीं होते तो इस परिस्थिति में उन्हें संत पापा को त्याग पत्र देना पड़ता है।

त्यागपत्र को कार्यरूप देने के लिए संत पापा को इसे स्वीकार करना है। यही कारण है कि प्रेस कार्यालय न केवल नियुक्ति की घोषणा करती किन्तु प्रेरितिक राजदूतों के पदत्याग की भी जानकारी देती है।

04 July 2019, 17:34