खोज

Vatican News
बुरकिना फासो बुरकिना फासो  (AFP or licensors)

बुर्किना फासो में चरमपंथी हमलों में कम से कम 20 लोग मारे गए

बुरकिना फासो के सरकारी अधिकारियों ने सौम प्रांत में हमने की निंदा की है जिसमें 19 पुलिसकर्मी और 1 नागरिक की मौत हुई है।

उषा मनोरमा तिरकी वाटिकन सिटी

बुरकिना फासो, मंगलवार, 16 नवम्बर 2021 (रेई)- अधिकारियों ने कहा कि उत्तरी बुरकिना फासो में रविवार को एक हमले में बंदुकधारियों ने कुल 19 पुलिस कर्मियों और 1 नागरिक को मार डाला।  

हमला सौम प्रांत में माली की सीमा के निकट हुआ, जहाँ सालों से सशस्त्र दलों के बीच संघर्ष जारी है।

रविवार को एक राष्ट्रीय टेलीविजन प्रसारण में बुरकिना फासो के सुरक्षा मंत्री मैक्सिम कोन ने कहा कि हमलावरों ने इनाटा सैनिक की एक टुकड़ी को निशाना बनाया। उन्होंने कहा कि सेना ने लड़ाई के दौरान अपनी स्थिति को बनाए रखा और 22 बच गए, जबकि अन्य की तलाश चल रही थी।

कोन ने यह भी बतलाया कि मरनेवालों की संख्या बढ़ सकती है। हमले की जिम्मेदारी किसी ने नहीं ली है।

साहेल में सुरक्षा

हिंसा की यह घटना साहेल के अस्थिर तीन-सीमा क्षेत्र की अंतिम घटना है जो बुरकिना फासो, नाईजर और माली की सीमा को अवरूद्ध कर दिया है। कई वर्षों से यह विशाल क्षेत्र अल-कायदा से जुड़े जिहादी और तथाकथित इस्लामिक स्टेट द्वारा संचालित है।  

क्षेत्र में शांति बनाये रखने हेतु संयुक्त राष्ट्र, क्षेत्रीय और पूर्वी के हजारों सेनाओं के बावजूद संघर्ष के कारण प्रांत के हजारों लोगों को मौत का शिकार होना पड़ा तथा लाखों लोग विस्थापित हो गये हैं।  

रविवार को पुलिसकर्मियों पर हमला तब हुआ जब वे अलकोमा के निकट डोरी और साहेल के उत्तरपूर्वी में एस्साकेन शहरों के बीच सुरक्षा मिशन पर तैनात थे।  

नवम्बर के शुरू में बुरकिना फासो एवं माली के बीच नाइजर के एक गाँव अदाब-दाब पर संदिग्ध जिहादियों के द्वारा किया गया था।

क्षेत्र में चरमपंथी जिहादी लड़ाकों की उपस्थिति स्थानीय जातीय समुदायों में लंबे समय से तनाव में है, जिनमें से कुछ ने सशस्त्र आत्मरक्षा समूहों का गठन किया है। बीच में फंसे नागरिक अक्सर सुरक्षा के लिए दूसरे इलाकों में भागने को मजबूर होते हैं।

16 November 2021, 16:41