खोज

Vatican News
सूडान में युद्ध विराम की आशा सूडान में युद्ध विराम की आशा 

दक्षिणी सूडान के कलीसियाई नेता द्वारा शांति पहल

अंतरधार्मिक वार्ता और ख्रीस्तीय एकतावर्धक वार्ता समिति के नेताओं ने दक्षिण सूडान की यात्रा करते हुए जातीय संघर्ष में विराम लाने की पहल की है।

दिलीप संजय एक्का- वाटिकन सिटी 

वाटिकन सिटी, सोमवार, 9 अगस्त 2021 (रेई) जून महीने से चली आ रही अंतर-जातीय हिंसा की रोकथाम हेतु अफ्रीका के पश्चिमी भूमध्यरेखीय प्रांत में शांति हेतु गठित अंतरधार्मिक वार्ता और अंतर-कलीसियाई समिति के नेताओं ने दक्षिण सूडान का दौरा करते हुए लोगों से शांति बनाये रखने की अपील की।

सूडान कलीसियाई महाधर्मप्रांत के महाधर्मध्यक्ष सामुएल पेनी ने कहा, “हमारी यह भेंट प्रार्थना और प्रोत्साहन की यात्रा है जिसके फलस्वरुप हम युद्ध में संलग्न लोगों से शांति बहाल करने की मांग करते हुए शांतिमय वार्ता द्वार समस्याओं का समाधान करने की मांग कर रहे हैं।”

जून में शुरू हुई जातीय हिंसा के कारण करीबन 21,000 लोगों को प्रवासन का शिकार होना पड़ा है जिसमें अधिकतर महिलाएं और बच्चें शामिल हैं जिन्हें शरण, भोजन, जल और सहायता की अति आवश्यकता है। हिंसा के कारण हजारों की संख्या में लोग मारे गये हैं जबकि बहुत से घरों को लूटा और आग के हवाले कर दिया गया है। 

अंतरधार्मिक वार्ता समिति और अंतर-कलीसियाई समितियों की यात्रा का मुख्य उद्देश्य कठिनाइयों का सामना कर रहे लोगों के संग एकात्मकता का भाव दिखलाते हुए शांति स्थापित करने की मांग करना है।

मान्यवर बरनी एडुआर्डो हिबोरो कुसाला, टोम्बुरा-याम्बियो प्रांत से धर्माध्यक्ष, जो प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा हैं, ने तनाव और बढ़ती हिंसा के कारण चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि दक्षिणी सूडान की इस यात्रा के दौरान वे लोगों के लिए प्रार्थना करते और समुदाय के नेताओं, पुरोहितों, सरकारी अधिकारियों और मानवतावादी कार्य में संलग्न लोगों से वार्ता करेंगे। शांति और एकजुटता की यात्रा के लिए प्रतिनिधिमंडल द्वारा चुने गए स्थानों में पवित्र स्थल मुपोई, टोम्बुरा, री-यूबु, बरुगुना, एज़ो, बारागु, अंदारी, नंदी, डियाबियो, रिंगासी और नागेरो शामिल हैं। 

09 August 2021, 16:11