Vatican News
 अमेरिका दूतावास के सामने खड़ी हैती पुलिस अमेरिका दूतावास के सामने खड़ी हैती पुलिस 

हैती हत्याकांड की गहरी साजिश

हैती के राष्ट्रपति की हत्या के बाद गिरफ्तार किए गए दो अमेरिकी नागरिकों का दावा है कि उन्हें सत्ता से हटाने की साजिश थी, लेकिन उन्हें नहीं पता था कि उन्हें गोली मार दी जाएगी। संत पापा फ्राँसिस ने हमले के बाद मृतक की आत्मा के लिए प्रार्थना की और विवादों को सुलझाने के साधन के रूप में हिंसा की निंदा करने वाले हैती वासियों के लिए सद्भाव और सुलह हेतु प्रार्थना की।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

पोर्ट-अउ-प्रिंस, शनिवार 10 जुलाई 2021, (वाटिकन न्यूज) : हाईटियन मूल के अमेरिकी नागरिक जेम्स सोलंगेस और जोसेफ विंसेंट का दावा है कि वे सशस्त्र गिरोह के अनुवादक थे और उन्हें लगा कि उनका इरादा राष्ट्रपति जोवेनेल मोइस को पदच्युत करना था, लेकिन उन्हें इस बात का कोई ज्ञान नहीं था कि उनकी हत्या की जाएगी।

विदित हो कि हैती के राष्ट्रपति जोवेनल मोइस की बुधवार 7 जुलाई को उनके घर पर हत्या कर दी गई।

राष्ट्रपति की तथाकथित अंगरक्षक इकाई में किसी को भी नुकसान नहीं पहुंचा और इस बात की जांच चल रही है कि वे उच्च क्षमता वाली अर्ध स्वचालित राइफल, पिस्तौल, स्लेज हैमर और माचे से लैस एक हिट दस्ते के खिलाफ वापस क्यों नहीं लड़े।

इनमें से छब्बीस लोग सेवानिवृत्त कोलंबियाई सैनिक हैं, जो सैनिकों के भाड़े के सैनिक बन गए। हाईटियन अधिकारियों का कहना है कि इस आक्रोश की साजिश रचते हुए उनके रिंग लीडर तीन महीने तक देश में रहे। एक साथ उन्होंने राष्ट्रपति मोइज़ की हत्या कर दी और उनकी पत्नी मार्टीन को कई बार गोली मार दी। उसे हेलीकॉप्टर से मियामी के अस्पताल पहुँचाया गया और उसे बचाया जा सका।

अंतरिम प्रधान मंत्री क्लाउड जोसेफ और एरियल हेनरी के बीच एक राजनीतिक सत्ता संघर्ष चल रहा है। एरियन हेनरी को राष्ट्रपति मोइज़ ने हत्या के एक दिन पहले प्रधान मंत्री के रुप में नामित किया था। इस बीच राष्ट्रीय पुलिस प्रमुख लियोन चार्ल्स अभी भी इसके पीछे के हत्यारे मास्टरमाइंड की तलाश कर रहे हैं। उन्होंने कहा, "हमारे पास अपराधी हैं। अब हम भड़काने वालों की तलाश कर रहे हैं।"

10 July 2021, 14:55