खोज

Vatican News
महामारी के दौरान प्रार्थना करता एक व्यक्ति महामारी के दौरान प्रार्थना करता एक व्यक्ति  (ANTARA FOTO)

अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता का पहला शिखर सम्मेलन

वाशिंगटन डी.सी. इस सप्ताह प्रथम अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता शिखर सम्मेलन (आईआरसी) की मेजबानी कर रहा है। सम्मेलन की घोषणा अप्रैल में अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर अमरीकी आयोग ने की थी।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

अमरीका, बृहस्पतिवार, 15 जुलाई 2021 (वीएनएस)- प्रथम अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता शिखर सम्मेलन का आयोजन 13 – 15 जुलाई को किया गया है। इसमें विभिन्न आस्थाओं और देशों के करीब 40 संगठन भाग ले रहे हैं।

अमरीकी धर्माध्यक्षों (यूएससीसीबी) का समर्थन

अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता (आईआरसी) पर शिखर सम्मेलन, अमरीकी काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (यूएससीसीबी) की अंतर्राष्ट्रीय न्याय और शांति समिति द्वारा सह-प्रायोजित है और इसे हर साल आयोजित किया जाएगा। संगठनों में काथलिक कलीसियाई संगठन एड टू द चर्च इन नीड (जरूरत में कलीसिया की सहायता) भी शामिल है जो ऐसी कलीसियाओं एवं ख्रीस्तीयों की मदद करता है जो अत्याचार के शिकार हो रहे हैं। इसके साथ नाईट ऑफ कोलम्बस, मध्यपूर्व में शांति के लिए कलीसियाएँ, खुले द्वार तथा मुस्लिम एवं यहूदी संगठन भी शामिल हैं।

धार्मिक अत्याचार में वृद्धि

शिखर सम्मेलन का उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर अंतर्दृष्टि प्रदान करना और धार्मिक स्वतंत्रता के खिलाफ उल्लंघन का सामना करना है, जबकि उन लोगों के लिए एक सहायता समूह प्रदान करना जिन्हें उनके विश्वास के लिए सताया जा रहा है। धार्मिक सतावट कई देशों में बढ़ रहा है। प्यू फोरम ऑन रिलिजन एंड पब्लिक लाइफ के अनुसार, दुनिया के लगभग 7 अरब में से 83 प्रतिशत लोग अब सरकार या सामाजिक शत्रुता वाले देशों में रहते हैं जिन्हें उत्पीड़न का शिकार होना पड़ता है।

लोगों में जागरूकता

शिखर सम्मेलन का उद्देश्य वैश्विक संगठनों का एक गठबंधन बनाना भी है जो एक साथ दुनिया में धार्मिक स्वतंत्रता के कारण को आगे बढ़ाएंगे, क्योंकि यह सार्वजनिक जागरूकता लाता और आंदोलन के लिए राजनीतिक ताकत को बढ़ाता है। अमरीकी काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के न्याय एवं शांति विभाग के अध्यक्ष धर्माध्यक्ष डेविड जे. माल्लोय ने कहा, "हर संस्कृति, देश, धार्मिक या राजनीतिक प्रणाली को एक महत्वपूर्ण मानव अधिकार के लिए धार्मिक स्वतंत्रता की रक्षा हेतु बेहतर की ओर बढ़ना चाहिए।

चर्चा के विषय और वक्ता

बैठक के दौरान चर्चा के विषय हैं: शरणार्थियों की सुरक्षा; नाइजीरिया में सांप्रदायिक हिंसा; उत्पीड़न के उद्देश्य, धार्मिक भेदभाव और बढ़ते धार्मिक राष्ट्रवाद के लिए हाई-टेक का उपयोग आदि। सम्मेलन के प्रमुख वक्ता हैं, अमरीकी काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष और न्यूयॉर्क के महाधर्माध्यक्ष कार्डिनल तिमोथी ए. डोलन, धार्मिक स्वतंत्रता की समिति, अमरीका के पूर्व सचिव माईक पोम्पेई और अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी।

यूएससीआईआरएफ

यूएससीआईआरएफ एक अमेरिकी संघीय द्विदलीय आयोग है जिसे 1998 के अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम द्वारा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर धार्मिक स्वतंत्रता के उल्लंघन की निगरानी और राष्ट्रपति, राज्य सचिव और कांग्रेस को नीतिगत सिफारिश करने के लिए बनाया गया है। इसके निष्कर्ष और सिफारिशें एक वार्षिक रिपोर्ट में प्रकाशित की जाती हैं।

15 July 2021, 15:28