Vatican News
दिली में  चक्रवात से टुटे सड़कों के किनारे खड़े लोग दिली में चक्रवात से टुटे सड़कों के किनारे खड़े लोग 

इंडोनेशिया और पूर्वी तिमोर में चक्रवात और बाढ़ ने तबाही मचाई

एक उष्णकटिबंधीय चक्रवात से आई बाढ़ और भूस्खलन के बाद इंडोनेशिया और पूर्वी तिमोर में कम से कम 100 लोग मारे गए और हजारों विस्थापित हुए हैं जो विशाल द्वीपसमूहों के बड़े हिस्से को घेरते हैं।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

इंडोनेशिया, सोमवार, 05 अप्रैल 2021 (वाटिकन न्यूज) : इंडोनेशिया और पूर्वी तिमोर में द्वीपों के बचाव दल ने लगभग 2,000 लोगों को निकालने में कामयाबी हासिल की है। जानलेवा मूसलधार बारिश से जानमाल का खतरा बना हुआ है और इससे व्यापक नुकसान हो सकता है। यह तबाही मचाने वाले ऊष्णकटिबंधीय चक्रवात सेरोजा के दक्षिणपूर्वी एशियाई देशों में भी पहुंचने की आशंका है। यह ऑस्ट्रेलिया की ओर दक्षिण में आगे बढ़ रहा है।

चक्रवात सेरोजा से भड़की बाढ़ और भूस्खलन से मरने वालों की तादाद घंटे के हिसाब से बढ़ रही है और बचाव दल समुद्र में धंसे हुए शवों की तलाश कर रहे हैं। आपातकालीन दल गांवों में पहुंच गये हैं जो बारिश के कारण कट गए हैं।

तेज हवाओं और तेज़ लहरों के साथ तीव्र मौसम की स्थिति और ढह गए पुलों एवं सड़कों पर गिरे पेड़ खोज और बचाव कार्यों को खतरनाक और कठिन बना रही है।

सोमवार को बड़े सबेरे बाढ़ आ गई, जबकि कई लोग सो ही रहे थे। कुछ निवासी 3-4 मीटर तक बढ़ने वाले बाढ़ के पानी से बचने के लिए खुद को अपनी छतों पर रखने में कामयाब रहे।

आपदा ने इंडोनेशिया के पूर्वी नुसा तेंगारा प्रांत, पश्चिम में कई द्वीपों और पूर्वी तिमोर को मारा है जो इंडोनेशिया के साथ तिमोर द्वीप को साझा करता है। लगभग 30,000 लोग प्रभावित हुए हैं।

उष्णकटिबंधीय चक्रवात का कई दिनों तक इस क्षेत्र पर प्रभाव जारी रखने की उम्मीद है।

05 April 2021, 14:13