खोज

Vatican News
दक्षिणी सूडान में भूखमरी दूर करने का कार्यक्रम दक्षिणी सूडान में भूखमरी दूर करने का कार्यक्रम  (WFP/Gabriela Vivacqua)

वैश्विक भूखमरी का सामना करने हेतु सहायता एजेंसियों द्वारा अपील

कारितास अंतरराष्ट्रीय एवं अन्य सहायता एजेंसियों ने राष्ट्रों के नेताओं को एक खुला पत्र लिखाकर आग्रह किया है कि विश्वभर में भूखमरी और आकाल का सामना कर रहे लाखों लोगों की मदद हेतु तत्काल कदम उठायें।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 27 अप्रैल 2021 (वीएनएस)- कारितास इंटरनैशनल ने 263 धार्मिक एवं सामाजिक संगठनों के साथ मिलकर राष्ट्रों के नेताओं से तत्काल अपील की है कि वे विश्वभर के 270 मिलियन लोगों की मदद करें जो भूखमरी या आकाल का सामना कर रहे हैं।

एक खुले पत्र में राहत एजेंसियों ने विश्व के नेताओं से अपील की है कि वे अतिरिक्त 5.5 बिलियन फंड प्राप्त करें जिससे कि 34 मिलियन लोगों तक पहुँचा जा सके जो इस समय अकाल के कगार में हैं तथा वैश्विक संघर्ष विराम के लिए संयुक्त राष्ट्र के आह्वान को दोहराया है ताकि भुखमरी और जानमाल के नुकसान को रोका जा सके।

भूखमरी आपदा नहीं है

पत्र में कहा गया है, "हम हर दिन पीड़ा एवं पलटाव देख रहे हैं। हम यमन, अफगानिस्तान, इथोपिया, दक्षिणी सूडान, बुरकिना फासो, कोंगो, होनडूरस, वेनेजुएला, नाईजीरिया, हैती, कार, यूगांडा, जिम्बावे, सूडान और उसके आगे भी लोगों की मदद कर रहे हैं, जो एक और दिन को पाने के लिए हरसंभव प्रयास करते हैं।"

कहा गया है कि "वे भूखे नहीं हैं बल्कि भूखे किये जा रहे हैं" तथा याद दिलाया गया है कि भूखमरी कोई विपत्ति नहीं है परन्तु संघर्ष, हिंसा, असमानता, जलवायु परिवर्तन, जमीन, नौकरी एवं संभावनाओं को खोने का परिणाम है जिसमें पिछले साल के कोविड-19 संकट ने सबसे अधिक गरीब लोगों को और अधिक दयनीय स्थिति में छोड़ दिया है।  

खाद्य सहायता की आवश्यकता तत्काल

जोर देते हुए कहा गया है कि "यह एक मानवीय कार्य है जो भूखमरी एवं अकाल की ओर ले रहा है और हम अपने प्रयासों के द्वारा इसके बुरे प्रभाव को रोक सकते हैं। अतः पत्र में देश के नेताओं से अपील की गई है कि वे खाद्य सहायता प्रदान करने हेतु अतिरिक्त 5.5 बिलियन फंड प्रदान करें। इस सहायता को तत्काल शुरू की जानी चाहिए तथा उन लोगों तक पहुँचना चाहिए जो जरूरतमंद हैं ताकि वे आज और भविष्य में भोजन प्राप्त कर सकें। सभी देशों को चाहिए कि वे अपनी शक्ति एवं उचित मात्रा में, संसाधनों को भटकाये बिना सहयोग दें।"

वैश्विक युद्धविराम का आह्वान

उन्होंने सरकारों से अपील की है कि वे संघर्ष एवं हिंसा के हर प्रकार को समाप्त करने तथा वैश्विक युद्ध विराम के लिए संयुक्त राष्ट्र महासचिव के आह्वान पर तुरंत ध्यान देने का प्रयास करें। कोविड-19 महामारी से संघर्ष करने में मदद देने हेतु अंतोनियो गुटेर्रेस ने मार्च 2020 में आह्वान किया था जिनका साथ संत पापा फ्राँसिस एवं कई अन्य सामाजिक नेताओं एवं संगठनों ने दिया था।

गरीबी एवं भूखमरी दूर करने के लिए निवेश

अंततः राहत एजेंसियों ने राष्ट्रों के अधिकारियों एवं हितधारकों से मांग की है कि वे गरीबी एवं भूखमरी दूर करने के लिए निवेश करें जिससे कि लोगों को उनके भविष्य निर्माण में मदद दिया जा सके। यह उन्हें भविष्य में संघर्ष एवं विस्थापन तथा भूखमरी एवं अकाल से बचाये रखेगा। 21वीं सदी में अकाल एवं भूख के लिए कोई स्थान नहीं है। इतिहास में हमारा न्याय आज के हमारे कदमों के आधार पर किया जाएगा।

खाद्य असुरक्षा में बढ़ोतरी

विश्वभर में बड़ी संख्या में लोग भूखमरी एवं भोजन असुरक्षा से पीड़ित हैं जो 2019 से ही सशस्त्र संघर्ष, जलवायु परिवर्तन और गरीबी के कारण दोगुणी हो गई है। कोविड-19 महामारी के प्रभाव ने कई देशों एवं समुदायों को आर्थिक रूप से अत्यन्त कमजोर बना दिया है जिससे गरीबी एवं खाद्य असुरक्षा की स्थिति बदतर हो गई है। 

27 April 2021, 16:15