Vatican News
चाड के राष्ट्पति इदरिस डेबी इट्नो चाड के राष्ट्पति इदरिस डेबी इट्नो  

चाड: विद्रोहियों ने राष्ट्रपति डेबी को मार डाला, सत्ता में सेना

उत्तरी विद्रोहियों के साथ झड़पों में लगी चोटें राष्ट्पति इदरिस डेबी इट्नो के लिए घातक बनीं। राज्य के प्रमुख के बेटे के नेतृत्व में सेना ने सरकार को भंग कर दिया और एक परिवर्तन कालीन परिषद की घोषणा की। स्थिरता की मांग करने वाले अधिकांश पश्चिमी शक्तियों का समर्थन है।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

चाड, बुधवार 21 अप्रैल 2021 (वाटिकन न्यूज) : चाड के राष्ट्रपति इदरिस डेबी देश के उत्तरी इलाक़े में विद्रोहियों के साथ हुए संघर्ष में मारे गए हैं। वे सप्ताहांत में राजधानी एनजमेना के कई सौ किलोमीटर उत्तर सेना के मोर्चे पर गए थे। वहाँ पर सेना और विद्रोही संगठन फैक्ट (द फ्रंट फॉर चेंज एंड कॉनकॉर्ड इन चाड) के बीच लड़ाई चल रही है। चाड की सेना के अनुसार, इस संघर्ष में वे घायल हो गए थे, जिसके बाद में उनकी मौत हो गई।

चुनावों में जीत के बाद मारे गए

68 वर्षीय राष्ट्रपति डेबी की मृत्यु की घोषणा चुनावी अधिकारियों द्वारा चाड से 11 अप्रैल के राष्ट्रपति चुनाव के विजेता डेबी के छह साल के लिए सत्ता में आने का मार्ग प्रशस्त करने के कुछ घंटों बाद की गई।

वे पहले सेना के एक अधिकारी थे। 1990 में सशस्त्र विद्रोह के ज़रिए उन्होंने सत्ता अपने हाथों में ली। वे अफ्रीका के साहेल इलाके में जिहादी समूहों के ख़िलाफ लड़ाई में फ्रांस और अन्य पश्चिमी शक्तियों के लंबे समय से सहयोगी रहे थे।

बताया गया है कि चाड के राष्ट्रपति डेबी का अंतिम संस्कार शुक्रवार को राजकीय सम्मान के साथ होगा।

परिवर्तन काल 18 महीने

राष्ट्रपति डेबी की मौत के बाद फ़ैसला लिया गया है कि उनके 37 वर्षीय बेटे महामत इदरीस डेबी इट्नो के नेतृत्व में बनी एक सैन्य परिषद अगले 18 महीनों तक शासन करेगी। वर्तमान में महामत डेबी सेना में 'फोर स्टार जनरल' हैं।


सेना ने अपने बयान में कहा कि महामत डेबी सैन्य परिषद का नेतृत्व करेंगे। परिवर्तन काल से गुजर जाने के बाद चाड में "स्वतंत्र और लोकतांत्रिक" चुनाव कराए जाएंगे। सेना ने बाद में 14 अन्य जनरलों का नाम लेते हुए एक और बयान जारी किया और बताया कि ये लोग प्रशासन तंत्र का हिस्सा होंगे।

दुनिया उन्हें याद कर रही

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने अपने एक बयान में डेबी को "बहादुर दोस्त" के रूप में याद किया और कहा कि उन्होंने चाड में स्थिरता लाने के लिए काफ़ी प्रयास किया. फ्रांस ने सालों से डेबी के विरोधियों को पीछे धकेलने के लिए अपनी सेना और लड़ाकू विमान तैनात किए हैं।

साहेल क्षेत्र में इस्लामी कट्टरपंथियों से लड़ रहे सैन्य बलों में चाड की सेना को सबसे असरदार माना जाता है,जिन्हें "जी 5" देशों का समर्थन हासिल है।

21 April 2021, 14:58