Vatican News
बुडापेस्ट में टीका लेता हुआ एक बुजुर्ग बुडापेस्ट में टीका लेता हुआ एक बुजुर्ग 

टीके के लिए फ्रांस व ब्रिटेन में लड़ाई, हंगरी की नजर पूर्व की ओर

आपूर्ति श्रृंखला को लेकर जारी तनाव के बीच फ्रांस ने ब्रिटेन पर "घोटाला" करने का आरोप लगाया है। इस तनाव ने यूरोपीय संघ के एक सदस्य राज्य को टीके लगवाने के लिए पूर्व की ओर देखने के लिए प्रेरित किया।

माग्रेट सुनीता मिंज-वाटिकन सिटी

बुडापेस्ट, सोमवार 29 मार्च 2021 (वाटिकन न्यूज) : कोरोनोवायरस के टीके को लेकर यूरोपीय संघ ब्रिटेन के साथ एक राजनयिक और व्यापारिक पंक्ति से बचने की कोशिश कर रहा है, जबकि फ्रांस अधीर हो रहा है।

फ्रांस के विदेश मंत्री ज्यां-यवेस ले ड्रियन ने कहा कि यूरोपीय संघ द्वारा ब्रिटेन में लाखों डोज भेजकर "घोटाला" किया गया था, जबकि इसके रोलआउट पर रोक लगी थी।

उन्होंने फ्रांस इंफो रेडियो से कहा, "हमें सहकारी संबंध बनाने की जरूरत है, लेकिन हम इस तरह से नहीं निपट सकते।" फ्रांस चाहता है कि यूरोपीय संघ सख्त निर्यात नियंत्रणों को लागू करे।

यूरोपीय संघ ने दवा कंपनियों को दोषी ठहराया है - मुख्य रूप से एस्ट्राजेनेका अपने वादा के अनुसार खुराक को वितरित करने में असमर्थ है। एस्ट्राज़ेनेका ने इस बात से इनकार किया है कि वह अपने अनुबंध का सम्मान करने में विफल है।

मार्च के अंत तक लगभग 30 मिलियन एस्ट्राजेनेका खुराक प्राप्त करने की उम्मीद है, यह एक तिहाई से भी कम था जो इसके लिए उम्मीद कर रहा था। लेकिन ब्रिटेन का टीकाकरण अभियान अब तक यूरोपीय संघ के 27 सदस्य देशों की तुलना में अधिक सफल रहा है।

हंगरी में कोविद महामारी

यूरोपीय संघ के देश विशेष रूप से हंगरी, जो अब दुनिया में कोरोनोवायरस की मृत्यु विश्व स्तर पर सबसे अधिक प्रति व्यक्ति दर्ज की गई है। अधिकारियों का कहना है कि 10 मिलियन लोगों की आबादी पर 19,000 से अधिक हंगेरियन लोग कोविद - 19 से मर चुके हैं।

इसीलिए हंगरी का कहना है कि उसने रूसी और चीनी टीके के अलावा अन्य टीके भी लगाना शुरू कर दिया है। हालांकि, यूरोपीय संघ की ड्रग्स एजेंसी ने अभी तक पूर्व से टीकों को मंजूरी नहीं दी है।

लेकिन हंगेरियन संसद की विदेश मामलों की समिति के प्रमुख ज़ोल्ट नेमेथ ने वेटिकन रेडियो से बताया कि देश के पास कोई और विकल्प नहीं है। "अगर हमारे पास यूरोपीय संघ से पर्याप्त टीके आते, तो हम रूस से टीके नहीं मंगाते। लेकिन दुर्भाग्य से हमारे पास पर्याप्त नहीं है, इस कारण से, हम न केवल रूसियों के साथ बल्कि चीनियों के साथ भी बातचीत कर रहे हैं।" उन्होंने कहा, "यह हमारे लिए एक भूराजनीतिक प्रश्न नहीं है। लेकिन यह मुख्य रूप से स्वास्थ्य सुरक्षा का प्रश्न है।"

बुडापेस्ट में रूसी और चीनी टीकों के बारे में लोगों में मिश्रित भावनाएं हैं। हंगरी की सरकार ने उम्मीद की है कि कोरोनोवायरस लॉकडाउन को कम करने के लिए ईस्टर के बाद अर्थव्यवस्था को आंशिक रूप से फिर से खोलना होगा क्योंकि एक चौथाई आबादी को टीके मिल गये हैं। अन्य यूरोपीय संघ के सदस्य राज्य हंगरी के घटनाक्रमों का बारीकी से निरीक्षण कर रहे हैं क्योंकि पश्चिमी देशों के साथ टीकों के आयात में बहुत कठिनाइयाँ सामने आ रही हैं।

29 March 2021, 15:22