खोज

Vatican News
मानव तस्करी की शिकार लड़की मानव तस्करी की शिकार लड़की  (©artit - stock.adobe.com)

यूरोप में मानव तस्करी के शिकार हर चार में से एक बच्चा

"सेव द चिल्ट्रन इटली" (बच्चों को बचाओ इटली) के नये रिपोर्ट अनुसार यूरोप में संदिग्ध या पहचाने जानेवाली तस्करी के शिकार बच्चे हैं।

उषा मनोरमा तिरकी-वाटिकन सिटी

वाटिकन सिटी, बृहस्पतिवार, 30 जुलाई 20 (वीएन)- "सेव द चिल्ट्रन इटली" (बच्चों को बचाओ इटली) के नये रिपोर्ट अनुसार यूरोप में संदिग्ध या पहचाने जानेवाली तस्करी के शिकार बच्चे हैं।

यूरोप में मानव तस्करी के शिकार 4 में से एक, 18 साल से कम उम्र का है जबकि 3 में से 2 महिलाएँ अथवा बालिकाएँ हैं।

चैरिटी सेव द चिल्ड्रन इटली की एक हाल ही में जारी रिपोर्ट में भी यह खुलासा हुआ है कि 2019 में यूरोपीय संघ में पंजीकृत 56% तस्करी के मामले यौन शोषण के लिए तस्करी से संबंधित थे।

"छोटे अदृश्य गुलाम"

"छोटे अदृष्य गुलाम 2019" शीर्षक पर एक रिपोर्ट, मानव तस्करी के खिलाफ विश्व दिवस (30 जुलाई) के एक दिन पहले प्रकाशित किया गया। जिसमें यह गौर किया गया है कि अनुमानतः मानव तस्करी के शिकार लोगों का एक उच्च प्रतिशत, इटली में रहनेवाला है, जहाँ एक वर्ष में पीड़ितों की संख्या 9 से 13% तक बढ़ जाती है।

रिपोर्ट के लेखकों का दावा है कि दस्तावेज़ तैयार करने के लिए विश्लेषण किए गए व्यापक डेटा में ज्यादातर छिपे हुए मुद्दों के सतह भर की जानकारी है। लेकिन, यह पीड़ितों की बढ़ती उम्र और यौन शोषण की व्यापकता की पुष्टि करता है,  जिसमें 15 या उससे कम उम्र के पांच पीड़ितों में से एक, और दस तस्करी वाले बच्चों में से नौ को प्रभावित करने वाले यौन शोषण के शिकार बच्चे हैं।

इटली में व्यापार की वास्तविकता पर ध्यान केंद्रित करते हुए, सेव द चिल्ड्रन का कहना है कि अधिकांश तस्करी वाली लड़कियां नाइजीरिया से हैं, उसके बाद रोमानिया, बुल्गारिया और अल्बानिया से भी हैं - ये सभी देश जिनमें गरीबी है और स्कूलों में प्रवेश पाने में कठिनाई होती है  वहाँ की लड़कियों से नौकरी का झूठा वादा कर, उन्हें तस्करों के जाल में आसानी से फंसाया और इटली की ओर आने के लिए लुभाया जाता है।

रिपोर्ट में कई प्रत्यक्ष प्रमाण दिए गए हैं जो बताते हैं कि ऐसे युवा और कमजोर पीड़ितों का यौन शोषण उनके जीवन पर अमिट छाप छोड़ता है, जिसमें बहुत गंभीर परिणाम होते हैं जो समावेश, सम्मान और स्वायत्तता के संभावित भविष्य को प्रभावित करते हैं।

नाईजीरियाई मानव तस्करी के शिकार लोगों की दुर्दशा

रिपोर्ट में एक अध्याय नाईजीरिया की लड़कियों और महिलाओं की दुर्दशा की ओर ध्यान खींचता है जो लीबया और समुद्र से होते हुए इटली पहुंचते हैं वहाँ वे शोषण और हिंसा के शिकार बनते, निर्दयी दलालों के ऋण में फंस जाते हैं, जो उनका शोषण करते, उनके दस्तावेजों (डोक्यूमेंट) को जब्त कर लेते, उन्हें गुलाम बना लेते और उनके परिवारों को ब्लैकमेल करते हैं।   

अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा प्रणाली की पहुँच

सेव द चिल्ट्रेन ने मानव तस्करी से बचाये गये हर व्यक्ति के लिए अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा प्रणाली की पहुँच की मांग की है ताकि वे इस प्रकार की हानि पहुँचाने वाले से अपने आप को बचा सकें।

यह उन गतिविधियों और साझेदारियों को भी बढ़ावा देता है, जिनका उद्देश्य नाबालिग पीड़ितों और उन लोगों की रक्षा करना है जो अभी अभी वयस्क हुए हैं, और जिन्हें उपचार, समावेशन और सामाजिक एकीकरण के मार्ग को अपनाने में सहायता देना है।

 

30 July 2020, 16:05